बेंगलुरु, प्रेट्र। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध करने वालों को दलित विरोधी बताते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी को पूरा कानून पढ़ने की नसीहत दी। उन्होंने राहुल को चुनौती दी कि वह साबित करें कि सीएए भारतीय मुस्लिमों से नागरिकता छीन लेगा।

राहुल गांधी पर भ्रम फैलाने की कोशिश का आरोप

भाजपा के देशव्यापी 'जन जागरण अभियान' के तहत हुबली में एक जनसभा को संबोधित करते हुए शाह ने कहा कि सीएए में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है जो मुस्लिमों से उनकी नागरिकता छीनता हो। उन्होंने राहुल गांधी पर भ्रम फैलाने की कोशिश का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें कानून में अगर कुछ ऐसा मिलता है जो भारतीय मुस्लिमों की नागरिकता छीनता हो तो प्रहलाद जोशी (संसदीय कार्य मंत्री) उनसे बहस करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कांग्रेस के साथ-साथ वामपंथी दलों, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, जदएस, बसपा और सपा पर वोट बैंक के लिए सीएए पर राजनीति करने का आरोप भी लगाया।

राहुल गांधी पर भ्रम फैलाने की कोशिश का आरोप

वहीं, वेदांत भारती के विवेक दीपिनी महासमर्पणे कार्यक्रम में शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरी दुनिया का भ्रमण कर रहे हैं क्योंकि वह भारतीय संस्कृति और परंपरा के ध्वजवाहक हैं। अपनी बात पुष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने शपथ ग्रहण करने से पहले वाराणसी में गंगा में डुबकी लगाई और गंगा आरती में हिस्सा लिया। भारत सरकार की ओर से विशेष पूजा के लिए पहली बार प्रधानमंत्री के रूप में मोदी ने नेपाल में पशुपतिनाथ मंदिर में लाल चंदन भेजा।

उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों ने पंथनिरपेक्षता की गलत व्याख्या की जिसकी वजह से वे देश की सर्वश्रेष्ठ चीजों का सम्मान नहीं कर सकीं। लेकिन लंबे अंतराल के बाद हमें ऐसा प्रधानमंत्री मिला है जिसने संदेश दिया है कि हमारे पास दुनिया को देने के लिए काफी कुछ है। कार्यक्रम में अमित शाह ने बच्चों को वेदों और आदि शंकराचार्य के लेखन से रूबरू कराने की कोशिश के लिए वेदांत भारती को धन्यवाद दिया और छात्रों से जीवन में हमेशा सही रास्ते पर चलने का आह्वान किया।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस