बिलासपुर [नईदुनिया]। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जकांछ) के सुप्रीमो व पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पुत्र व विधायक अमित जोगी की नागरिकता व जाति को लेकर हाई कोर्ट में दायर याचिका में गवाह ने जोगी की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। अमित जोगी के गवाह ने अदालत में कहा कि वह न तो अमित जोगी को जानते हैं, न अजीत जोगी को। मामले में अगली सुनवाई 10 अक्टूबर को होगी।

निष्कासित कांग्रेस विधायक अमित जोगी के निर्वाचन को चुनौती देते हुए भाजपा की पराजित उम्मीदवार समीरा पैकरा ने याचिका दाखिल की है। इसमें जोगी की नागरिकता व उनकी जाति को लेकर चुनौती दी गई है। याचिकाकर्ता की ओर से गवाही पूरी होने के बाद कोर्ट ने उत्तरवादी के गवाहों का बयान दर्ज किया।

गुरुवार को जोगी की ओर से जोगीसार निवासी दिल प्रसाद पैकरा की गवाही हुई। गवाह ने अजीत जोगी को नहीं जानने और अमित जोगी के कहने पर कोर्ट में आने की बात कही। उसने अमित जोगी के संबंध में अन्य जानकारी नहीं होने की बात कही है। कोर्ट ने गवाही पूरी होने पर मामले को अंतिम बहस के लिए 10 अक्टूबर को रखने का आदेश दिया है।

 

Posted By: Vikas Jangra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस