नई दिल्‍ली, एजेंसी। समाजवादी पार्टी के पूर्व नेता अमर सिंह ने मंगलवार को अमिताभ बच्‍चन के प्रति अपने व्‍यवहार पर खेद जताते हुए माफी मांगी है। उन्‍होंने अपने ट्विटर हैंडल पर अमिताभ बच्‍चन के साथ गिले-शिकवे को दूर करते हुए कहा कि उन्‍हें बच्‍चन परिवार के प्रति अपने व्‍यवहार को लेकर खेद है। अभी उनका इलाज सिंगापुर के अस्‍पताल में चल रहा है।

ट्वीट में जताया खेद

उन्‍होंने ट्विटर पर लिखा, ‘मेरे पिता की आज पुण्‍यतिथि है और अमिताभ बच्‍चन ने मुझे हमेशा की तरह मैसेज किया है। जीवन के इस पड़ाव पर जब मैं जीवन और मृत्यु की लड़ाई लड़ रहा हूं मुझे अमित जी और उनके परिवार के खिलाफ अपनी प्रतिक्रिया के लिए खेद है। ईश्वर उन सभी को आशीर्वाद दे।'

60 के बाद होती है जीवन की संध्‍या

उन्‍होंने अपने वीडियो में कहा, ‘आज के दिन मेरे पूज्‍य पिताजी का स्‍वर्गवास हुआ था। इस तिथि पिछले एक दशक से लगातार श्री अमिताभ बच्‍चन मुझे संदेश भेजते हैं। संबंध जितना निकट होता है उसके टूट की चुभन भी उतनी तेज होती है। पिछले दस वर्षों से मैं बच्‍चन परिवार से दूर रहा, लेकिन आज फिर अमिताभजी ने मेरे पिताजी का स्‍मरण किया। इसी सिंगापुर में दस साल पहले गुर्दों की बीमारी के लिए मैं और अमित जी दो महीने तक साथ रहे। उसके बाद से हमारे बीच संबंध खत्‍म हो गए,लेकिन दस साल बाद भी उनकी निरंतरता में बाधा नहीं आई। विभिन्‍न अवसरों पर चाहे वह मेरा जन्‍मदिवस हो या पिता की पुण्‍यतिथि अपने कर्तवय का निर्वहन करते रहे। 60 से ऊपर जीवन की संध्‍या होती है। मैं जिंदगी और मौत के बीच से गुजर रहा हूं। वे हमसे उम्र में बड़े हैं मुझे नरमी रखनी चाहिए थी। मुझे लगता है कि मैंने जो कटु वचन बोले हैं उसके प्रति खेद प्रकट कर देना चाहिए। मेरे मन में कटुता और नफरत से ज्‍यादा उनके व्‍यवहार के प्रति निराशा रही, लेकिन उनके मन में न कटुता है न निराशा है, बल्‍कि कोई और भावना है। इसलिए पिताजी को श्रद्धांजलि देते हुए जो श्रद्धासुमन उन्‍होंने व्‍यक्‍त किया है वह देते हुए, हमें सब ईश्‍वर पर छोड़ना चाहिए बजाए उसमें दखल देने के। बहुत-बहुत धन्‍यवाद अमित जी आपके संदेश का।’

सिंगापुर के अस्‍पताल में चल रहा इलाज 

सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर अमर सिंह ने अपने मित्र रहे अमिताभ बच्चन और उनके परिवार से माफी मांगी। वीडियो में अमर सिंह काफी कमजोर दिख रहे हैं। उनका इलाज सिंगापुर के अस्‍पताल में चल रहा है। कुछ साल पहले उनकी किडनी में समस्‍या आई थी, जिसका इलाज चल रहा है। उन्‍होंने अपने ट्वीट में अमिताभ बच्‍चन के साथ टूटे संबंधों की खाई को पाटने की कोशिश की है। कुछ साल पहले अमिताभ और अमर के बीच गहरी दोस्‍ती थी। 

2017 में दिया था बच्‍चन परिवार पर ये बयान

इसके साथ ही उन्‍होंने कहा कि दोस्‍ती को तोड़ने का फैसला अमिताभ बच्‍चन का था। अमर सिंह ने यह भी कहा कि अमिताभ और उनकी पत्‍नी जया बच्‍चन अलग-अलग रह रहे थे। 2017 में अमर सिंह ने एक इंटरव्‍यू के दौरान कहा था, ‘अमिताभ बच्‍चन व जया बच्‍चन अलग रह रहे थे। उनमें से एक प्रतीक्षा में और एक ‘जनक’ कोठी में रह रहे थे। ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन व जया के बीच भी कुछ समस्‍याएं थीं। मैं इसके लिए जिम्‍मेवार नहीं।’ उन्‍होंने यह भी कहा कि अमिताभ ने उन्‍हें चेताया था कि वे जया बच्‍चन की समाजवादी पार्टी की सदस्‍यता न लें। इसपर अमिताभ ने पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए कहा था, ‘वे मित्र हैं और उन्‍हें सब कुछ कहने का अधिकार है।’

जब पनामा मामले में फंसे थे अमिताभ

वर्ष 2017 में जब अमिताभ पनामा मामलों में फंसे थे तब अमर सिंह ने कहा, 'मैं अमिताभ बच्चन के लिए प्रार्थना करूंगा। सुप्रीम कोर्ट में एक जनहित याचिका के बाद सीबीआई जांच की जा रही है। काले धन पर एसआईटी जांच कर रही है। कहानी यहां खत्म नहीं होती। मैं भगवान से प्रार्थना करूंगा कि उन्हें इस असहनीय झटके को सहने की हिम्मत दे।' उन्‍होंने आगे कहा था कि एक प्रशंसक के तौर पर वे अपने हीरो अमिताभ बच्‍चन को मामले से सुरक्षित निकल जाने की चाहत रखते हैं।

बीत गई सो बात गई

इससे पहले अमर सिंह ने अमिताभ बच्‍चन की आर्थिक मदद भी की थी जब उनका प्रोडक्‍शन हाउस ABCL संकट में था।  दोस्‍ती खत्‍म होने के सालों बाद अमर सिंह के इस नए पहल से यह जाहिर होता है कि ‘बीत गई सो बात गई।’

BJP चुनाव जीतेगी क्योंकि राष्ट्रवाद ने जातिवाद को अपने कब्जे में ले लिया है: अमर सिंह

Posted By: Monika Minal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस