नई दिल्ली, प्रेट्र। सेना के शौर्य पर सियासत नहीं करने की नसीहत देने वाली राजनीतिक पार्टियां जमकर इस पर सियासत कर रही हैं। विपक्षी दलों खासकर कांग्रेस तो पुलवामा हमले के बाद से ही सवाल उठाने शुरू कर दिए थे। बालाकोट में एयर स्ट्राइक के बाद तो कांग्रेस ने सरकार पर चौतरफा हमला शुरू कर दिया है।

चिदंबरम से लेकर सिब्बल तक दिग्विजय से लेकर सुरजेवाला तक सभी सरकार से एयर स्ट्राइक और मारे गए आतंकियों के बारे में सुबूत मांग रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस भी सरकार की मंशा पर सवाल उठा रही है।

दूसरों पर भरोसा, सेना पर नहीं
कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल विदेशी अखबारों न्यूयॉर्क टाइम्स, वाशिंगटन पोस्ट, लंदन स्थिति जेन इंफॉर्मेशन ग्रुप, डेली टेलीग्राफ, गार्जियन, रायटर की खबरों का हवाला देकर सरकार से हवाई हमले का सुबूत मांग रहे हैं। सिब्बल ने ट्वीट कर मोदी सरकार पर आतंक का राजनीतिकरण करने का आरोप लगा रहे हैं। जबकि, सोमवार को ही वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने साफ कर दिया है कि जैश के ठिकाने पर सटीक हमला किया गया था और उसका ठिकाना ध्वस्त हो गया था।

सिब्बल कहते हैं क्या अंतरराष्ट्रीय मीडिया पाकिस्तान के साथ है। सवाल उठता है कि क्या सिब्बल यह कहना चाहते हैं कि सेना झूठ बोल रही है? सिब्बल से पहले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भी सरकार से हवाई हमले के सुबूत मांगे थे।

सुरजेवाला ने मोदी से मांगे जवाब
कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, ''मोदी जी, आपके केंद्रीय मंत्री टीवी चैनल की ख़बरों को यह कहकर झुठला रहे हैं कि बालाकोट हवाई हमले में 300 आतंकवादियों के मारे जाने की पुष्टि प्रधानमंत्री ने कभी नहीं की। क्या यह सच है? अगर नहीं तो प्रधानमंत्री देश को सच बताएं।''

पेड़ गिराने गए थे जवान?
कांग्रेस नेता और पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, '300 आतंकी मारे गए, हां या नहीं? तब हमले का क्या मकसद था? क्या आप वहां पेड़ खत्म करने गए थे? क्या यह चुनावी चाल थी? सेना का राजनीतिकरण बंद करिए।' उन्होंने आगे कहा, 'ऊंची दुकान, फीकी पकवान।'

वहीं, पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने सोमवार को सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह विपक्ष को कोसना बंद कर दुनिया को अपना पक्ष समझाए। हवाई हमले पर दुनिया को यकीन दिलाए।

चिदंबरम पर गोयल का पलटवार
चिदंबरम के इस बयान पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने पलटवार किया। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस पाकिस्तान के दुष्प्रचार पर तो भरोसा कर रही है, लेकिन उसे अपनी सेना पर यकीन नहीं है।

शाह को कैसे पता कितने आतंकी मारे गए
कांग्रेस प्रवक्ता आरपीएन सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने जवानों के पराक्रम का राजनीतिकरण किया है। उन्होंने कहा कि 250 लोग मारे गए। शाह को किसने बताया कि पाकिस्तान के बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई में 250 आतंकी मारे गए। हम पूछना चाहते हैं कि प्रधानमंत्री इस पर जवाब क्यों नहीं देते हैं?'

टीएमसी का सरकार पर निशाना
टीएमसी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट कर कहा, 'हमें अपनी फौज पर भरोसा, जुमला जोड़ी पर भरोसा नहीं। क्या आप बिना किसी योजना के हमारे जवानों को मरने के लिए भेज रहे हैं? या आपका मकसद सिर्फ चुनाव जीतना है?'

 

Posted By: Arun Kumar Singh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप