नई दिल्ली, एएनआइ। उत्तर प्रदेश में चुनावी माहौल गरम है। दिल्ली में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को हेलिकाप्टर रोके जाने का आरोप लगाया। अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, 'मेरे हेलिकाप्टर को अभी भी बिना किसी कारण बताए दिल्ली में रोककर रखा गया है और मुजफ्फरनगर नहीं जाने दिया जा रहा है। जबकि भाजपा के एक शीर्ष नेता अभी यहां से उड़े हैं। हारती हुई भाजपा की ये हताशा भरी साजिश है। जनता सब समझ रही है।' साथ ही उन्होंने एक दूसरे ट्वीट में कहा कि सत्ता का दुरुपयोग हारते हुए लोगों की निशानी है। समाजवादी संघर्ष के इतिहास में ये दिन भी दर्ज होगा ! हम जीत की ऐतिहासिक उड़ान भरने जा रहे हैं। वहीं, इस पूरे मामले पर अब एयरपोर्ट के अधिकारियों का अहम बयान सामने आया है। इसमें बताया गया है कि आखिरकार अखिलेश यादव के हेलिकाप्टर उड़ान में हुई देरी की प्रमुख वजह क्या रही है। देर शाम एयरपोर्ट अधिकारियों ने कहा कि दिल्ली में उच्च हवाई यातायात (high air traffic) के कारण अखिलेश यादव के हेलिकाप्ट के उड़ान में देरी हुई।

भाजपा नेताओं को नहीं करना पड़ा इंतजार: अखिलेश यादव

इस मामले पर अखिलेश यादव का एक बार फिर बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि वहां मौजूद लोगों ने मुझसे कहा कि भाजपा नेताओं ने मुझसे पहले उड़ान भरी थी। मुझे हवाई यातायात के बारे में बताया गया था। उन्हें इंतजार नहीं करना पड़ा जबकि मुझे 2 घंटे से ज्यादा इंतजार करना पड़ा। साथ ही अखिलेश ने कहा कि भाजपा चाहे कुछ भी करे, उत्तर प्रदेश के लोग उन्हें हटा देंगे।

तस्वीरें वायरल होने के कुछ देर बाद हेलिकाप्टर के उड़ान को मिली मंजूरी

शुक्रवार को पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आरएलडी चीफ जयंत चौधरी के साथ अखिलेश यादव एक प्रेस कान्फ्रेंस करने वाले थे। मेरठ में भी उनका एक चुनावी प्रचार कार्यक्रम था। लेकिन इससे पहले उन्होंने आरोप लगाया कि मेरे हेलीकाप्टर को दिल्ली में जानबूझकर रोका गया और इसे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर के लिए नहीं उड़ने दिया जा रहा है। हालांकि, तस्वीरें वायरल होने के कुछ देर बाद उन्हें इजाजत मिल गई थी। 

12:15 बजे हेलिकाप्टर से मुजफ्फरनगर में लैंड करने की थी योजना

अखिलेश यादव ने लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट से प्राइवेट वायुयान से सुबह 10:30 बजे दिल्ली प्रस्थान किया था। उनका 11:45 बजे दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरना निर्धारित था। यहां से 12:15 बजे हेलिकाप्टर से मुजफ्फरनगर पुलिस लाइन स्थित हेलीपैड पर लैंड करने की योजना थी। यहां पर उनके हेलिकाप्टर को उड़ान करने में देरी हो गई। इसके बाद उन्होंने ट्वीट कर भाजपा पर कई आरोप लगाए।

प्रेस कान्फ्रेंस से पहले जयंत चौधरी ने भाजपा पर साधा निशाना

बता दें कि मुजफ्फरनगर में प्रेस कान्फ्रेंस से पहले जयंत चौधरी ने भी भाजपा पर निशाना साधा था। भाजपा के आफर पर उन्होंने कहा कि अमित शाह के आफर में साजिश की बू आ रही थी। उन्होंने कहा कि यह चुनाव देश के अस्तित्व के लिए जरूरी है। जयंत ने एक दिन पहले कहा था कि वह चवन्नी नहीं है जो पलट जाएं।

सपा और राष्ट्रीय लोकदल का है गठबंधन

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी और राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) का गठबंधन है। पहले चरण के चुनाव में ही पश्चिमी उत्तर प्रदेश में मतदान होने हैं। इसी को लेकर आज अखिलेश यादव मुजफ्फरनगर पहुंचे थे। 

Koo App

भाजपा सरकार, समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, श्री अखिलेश यादव जी के हेलीकॉप्टर को भले ही रोक ले लेकिन समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं के बुलंद हौसले और जीत की उड़ान को कभी नहीं रोक पाएगी। Akhilesh Yadav

View attached media content

- Swami Prasad Maurya (@SwamiPMaurya) 28 Jan 2022

Koo App

हारती हुए भाजपा ने विरोध के बाद हेलीकाप्टर को उडाने की अनुमति दी

- Fakhrul Hasan Chaand (@chaandsamajwadi) 28 Jan 2022

Koo App

Stopping Akhilesh Yadav’s helicopter is unfortunate and killing of the Constitution... Bharatiya Janata Party is seeing its defeat, that’s why it is doing such acts. The helicopter is still detained in Delhi without assigning any reason and is not being allowed to go to Muzaffarnagar. While a top BJP leader has just flown from here. This is a desperate conspiracy of the losing BJP. People are understanding everything….

View attached media content

- Rohit agarwal (@rohitagarwal85) 28 Jan 2022

Koo App

हारती हुए भाजपा निचले स्तर पे उतर आई है तुम जितना रोकोंगे हम उतनी बड़ी जीत हासिल करेंगे

View attached media content

- Fakhrul Hasan Chaand (@chaandsamajwadi) 28 Jan 2022

Edited By: Dhyanendra Singh Chauhan