जयपुर, एजेंसी। राजस्थान में करीब महीने भर से चल रहा सियासी संग्राम अब थमता दिख रहा है। बगावती तेवर अपनाने वाले सचिन पायलट की कांग्रेस आलाकमान से सुलह के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के भी सुर बदल गए हैं। उन्होंने मंगलवार को कहा कि विधायकों की शिकायतों पर गौर करेंगे। मालूम हो कि सोमवार को ही सचिन पायलट और राहुल गांधी की मुलाकात के बाद 'सौहा‌र्द्रपूर्ण समाधान' के संकेत मिले थे। पार्टी आलाकमान ने बागी विधायकों द्वारा उठाए गए मुद्दों पर गौर करने के लिए एक समिति बनाई है। इस तरह 14 अगस्त से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र से पहले ही मामला शांत हो गया है।

गहलोत ने कहा- विधायकों की नाराजगी दूर करना मेरी जिम्मेदारी

जैसलमेर के लिए रवाना होने से पहले गहलोत ने कहा कि उन्हें नहीं पता कि कुछ विधायक क्यों नाराज हुए और उनसे क्या वादे किए गए थे। उन्होंने कहा, 'यदि कोई विधायक मुझसे नाराज हैं तो उनकी नाराजगी दूर करना मेरी जिम्मेदारी है। यह मैं पहले भी करता रहा हूं और अब भी करूंगा।'

गहलोत ने पायलट को 'निकम्मा' कहे जाने संबंधी सवाल का जवाब नहीं दिया

हालांकि उन्होंने अपने पूर्व डिप्टी सचिन पायलट को 'निकम्मा' कहे जाने संबंधी सवाल का जवाब नहीं दिया।

अब आगे की रणनीति तय होगी

सोमवार को सचिन पायलट की कांग्रेस आलाकमान के साथ हुई बैठक के संदर्भ में गहलोत ने कहा कि फैसले हो चुके हैं और अब आगे की रणनीति तय होगी। उन्हें नहीं मालूम कि पायलट की वापसी का क्या फॉर्मूला है। यह तो हाईकमान ही जानता है। वह पार्टी द्वारा गठित तीन सदस्यीय समिति के सामने अपनी बातें रखेंगे। मुख्यमंत्री ने भाजपा पर अपनी सरकार गिराने की कोशिश करने का आरोप लगाया और दावा किया कि कांग्रेस सरकार न सिर्फ पांच साल का अपना यह कार्यकाल पूरा करेगी, बल्कि अगला चुनाव भी जीतेगी।

राजस्थान भाजपा विधायक दल की बैठक टली

ताजा सियासी घटनाक्रमों के बीच भाजपा ने मंगलवार को प्रस्तावित अपने विधायक दल की बैठक टाल दी है। पार्टी ने यह बैठक 14 अगस्त को शुरू होने वाले विधानसभा सत्र के सिलसिले में बुलाई थी। अब भाजपा विधायकों से गुरुवार को जयपुर में पार्टी मुख्यालय पहुंचने को कहा गया है। नेता प्रतिपक्ष गुलाब चंद कटारिया ने जारी एक बयान में कहा कि भाजपा विधायक दल की बैठक के कार्यक्रम में बदलाव किया गया है और अब विधायकों को 13 अगस्त को सुबह 11 बजे पार्टी कार्यालय पहुंचने को कहा गया है।

सचिन पायलट जयपुर लौटे 

इस बीच, सचिन पायलट करीब एक महीने बाद मंगलवार को जयपुर लौट आए। मुख्यमंत्री से टकराव के बाद से ही वह बाहर थे। पायलट के नई दिल्ली से जयपुर लौटने पर उनके आवास पर स्वागत के लिए बड़ी संख्या में समर्थक जुटे थे।

बसपा विधायकों के मामले में हाई कोर्ट में सुनवाई 13 को

दूसरी ओर, बसपा के छह विधायकों के कांग्रेस में विलय को चुनौती देने वाली याचिका पर राजस्थान हाई कोर्ट की जयपुर बेंच में मंगलवार को सुनवाई अधूरी रही। अब अगली सुनवाई 13 अगस्त को होगी। बसपा विधायकों के कांग्रेस में विलय को भाजपा विधायक मदन दिलावर ने चुनौती दी है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस