नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। पहले सर्जिकल स्ट्राइक, फिर एयर स्ट्राइक और अब पाकिस्तान के कब्जे वाले गुलाम कश्मीर में आतंकियों पर भीषण गोलाबारी करके भारत ने स्पष्ट संदेश दे दिया है कि वह अपनी लड़ाई लड़ने में सक्षम भी है और हर दुस्साहस का करारा जवाब देने का साहस भी रखता है।

यह संदेश इसलिए खास है क्योंकि पिछले दिनों में पाकिस्तान न सिर्फ अंतरराष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर का रोना रोता रहा बल्कि खुले तौर पर न्यूक्लियर वार की धमकी भी देता रहा है। माना जा रहा है कि भारत का संदेश न सिर्फ पाकिस्तान के लिए है बल्कि उन देशों के लिए भी है जो किसी खास नजरिए के कारण पाकिस्तान के साथ खड़े नजर आते हैं।

'मोदी जो कहता है वह करता है'

अभी दो दिन पहले ही हरियाणा की एक चुनावी रैली में प्रधानमंत्री ने पाकिस्तान को कहा था, 'मोदी जो कहता है वह करता है।' यह बयान हालांकि पाकिस्तान में जा रहे पानी को रोकने के बयानों और उसके जवाब में पाक आकाओं की घुड़कियों से संबंधित था, लेकिन रविवार को पीओके में आतंकी लांच पैड को ध्वस्त करने को भी अब उसी से जोड़कर देखा जा रहा है।

हमलों को रोकने के लिए घुसकर वार

दरअसल पाकिस्तान के बालाकोट पर एयर स्ट्राइक के बाद ही सरकार की ओर से यह स्पष्ट कहा गया था कि भारत अब सिर्फ हमलों से बचाव नहीं करेगा, बल्कि हमलों को रोकने के लिए घुसकर वार भी करेगा। मोदी सरकार में यह 'न्यू नार्मल' (यानी मौजूदा समय में सामान्य बात) हो गया है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह कहते रहे हैं कि भारत पाकिस्तानी आतंकियों का समूल नष्ट करने के लिए तैयार है। हाल में केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पोखरण में एक बयान दिया था कि पहले परमाणु हथियार इस्तेमाल न करने की नीति पर परिस्थितियों के अनुसार विचार किया जाएगा।

इमरान खान ने दी थी भारत को धमकी 

दरअसल, केंद्र सरकार के शीर्ष नेतृत्व की ओर से पाकिस्तान के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भी बेहिचक यह संदेश दिया जा रहा है कि भारत हर स्थिति से निपटने में सक्षम है और अपने हितों की रक्षा के लिए किसी भी दबाव में आए बगैर कार्रवाई करेगा। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से ही यह खुफिया जानकारी मिल रही थी कि गुलाम कश्मीर में आतंकियों का फिर से जमावड़ा हो रहा है और पाकिस्तान अवसर मिलते ही उनकी भारत में घुसपैठ कराने की फिराक में है। कुछ इसी इरादे से एक दिन पहले पाकिस्तान की ओर से सीमा पर गोलीबारी की गई थी। कुछ दिनों पहले पीओके में रैली कर पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी भारत को धमकी ही दी थी। ऐसे में वक्त रहते ही भारतीय सैनिकों ने पीओके में कई आतंकी अड्डे तबाह कर दिए।

भारत के कदमों से बौखलाया है पाकिस्तान

पाकिस्तान के कब्जे वाले गुलाम कश्मीर में कार्रवाई का एक खास संदेश भी है। भारत की ओर से बार-बार कहा जाता रहा है कि पीओके भारत का हिस्सा है। शाह की ओर से संसद के अंदर भी पीओके के साथ-साथ अक्साई चिन की भी बात कही गई थी। हाल में मोदी सरकार कैबिनेट ने यह फैसला भी लिया कि गुलाम कश्मीर से आकर कश्मीर में बसने वाले उन लोगों को भी नागरिक अधिकार दिए जाएंगे जो पहले किसी दूसरे राज्य में जाकर रुके थे। इन कदमों से पाकिस्तान और भी बौखलाया हुआ है। वहीं मोदी ने संयुक्त राष्ट्र में साफ कर दिया कि भारत अपनी रक्षा करने के लिए कृतसंकल्प है और संयुक्त राष्ट्र को याद रखना चाहिए कि उसका जन्म किस लिए हुआ है।

Posted By: Manish Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप