नई दिल्ली, पीटीआइ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आज के 74 वें स्वतंत्रता दिवस के संबोधन में 'आत्मानिर्भर भारत' केंद्रबिंदु रहा, उन्होंने भारत के विकास को विविध क्षेत्रों में फैलाने के लिए एक व्यापक रूपरेखा प्रस्तुत की और कहा कि कोरोना वायरस महामारी देश को आत्मनिर्भरता की ओर जाने से नहीं रोक सकती। इसी के साथ उन्होंने  कहा कि देश को 'मेक इन इंडिया' के साथ-साथ 'मेक फॉर वर्ल्ड' के मंत्र के साथ आगे बढ़ना होगा।

लाल किले की प्राचीर से अपनी सातवें सीधे स्वतंत्रता दिवस के भाषण में, मोदी ने शनिवार को एक नई डिजिटल घोषणा की जिसमें राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन की शुरुआत की गई, जिसके तहत सभी को छह लाख गांवों को ऑप्टिकल फाइबर से जोड़ने के लिए स्वास्थ्य आईडी दी जाएंगे और साथ ही परिसीमन अभ्यास समाप्त होने के बाद जम्मू और कश्मीर में विधानसभा चुनाव कराने का वादा किया।

मोदी ने भारत के शत्रुतापूर्ण पड़ोसियों को चेतावनी देने के लिए भी कहा कि सशस्त्र बलों ने उन लोगों को करारा जवाब दिया है जिन्होंने देश की संप्रभुता को एलओसी से एलएसी तक तोड़ने की कोशिश की उन्हें सशस्त्र बल ने  चुनौती दी थी।

भारत की संप्रभुता हमारे लिए सर्वोच्च

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा रेखा पर हुए संघर्ष पर पीएम मोदी ने कहा कि भारत की संप्रभुता के लिए सम्मान हमारे लिए सर्वोच्च है और दुनिया ने लद्दाख में देखा है कि हमारे बहादुर जवान इस संकल्प को बनाए रखने के लिए क्या कर सकते हैं। मैं उन सभी बहादुर सैनिकों को सलाम करता हूं। पीएम ने कहा कि चाहे वह आतंकवाद हो या विस्तारवाद, भारत दृढ़ संकल्प के साथ लड़ रहा है।

मेक फॉर वर्ल्ड का मंत्र

अपने प्रथागत 'कुर्ता पायजामा' और साफा पहने प्रधानमंत्री ने अपने लगभग 90 मिनट के संबोधन में, अपने 'आत्मानबीर भारत' अभियान के बारे में विस्तार से बताया और आयात को कम करने और जगह-जगह कच्चे माल के तैयार उत्पादों के निर्यात को बढ़ाने का आह्वान किया। साथ  देश को 'मेक इन इंडिया' के साथ-साथ 'मेक फॉर वर्ल्ड' के मंत्र के साथ आगे बढ़ना होगा।

कोरोना वैक्सीन पर कही ये बात

'आत्मानिर्भर भारत' अब केवल एक शब्द नहीं है, बल्कि एक मंत्र बन गया है और लोगों की कल्पना पर कब्जा कर लिया है। मोदी ने COVID-19 के लिए वैक्सीन के  मुद्दे पर भी बात की और कहा कि तीन टीके देश में विभिन्न चरणों में हैं। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिकों द्वारा हरी झंडी दिखाने के बाद एक रोडमैप सभी बड़े पैमाने पर कम से कम समय में अपने बड़े पैमाने पर उत्पादन के लिए तैयार है।

उन्होंने अपनी सरकार द्वारा किए गए कई सुधार उपायों को भी सूचीबद्ध किया, जिसके परिणामस्वरूप पिछले साल देश में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) का रिकॉर्ड रहा है।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021