राज्य ब्यूरो, नई दिल्ली। आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी की भागीदारी के मामले में आप की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के फैसले पर राष्ट्रीय परिषद ने मुहर लगा दी है। शुक्रवार को पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने फैसला लिया था कि पार्टी उन्हीं राज्यों में पूरे दमखम के साथ लोकसभा चुनाव लड़ेगी, जहां उसकी मजबूत स्थिति है।

लोकसभा चुनाव को लेकर पार्टी की राष्ट्रीय परिषद ने लगाई मुहर

शनिवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास पर हुई राष्ट्रीय परिषद की बैठक के बाद आप के दिल्ली संयोजक गोपाल राय ने इस बाबत विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि बैठक में 20 राज्यों से प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया। परिषद ने फैसला लिया है कि पार्टी दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ व गोवा में सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगी। इसके अलावा अलग-अलग राज्यों की राज्य समितियों को जिम्मेदारी दी गई है कि वे अपने राज्य की संगठन की स्थिति की जानकारी पर एक रिपोर्ट तैयार कर पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी (पीएसी) को देंगे। कमेटी उस पर निर्णय करेगी कि वहां चुनाव लड़ा जाए या नहीं। बैठक में कुमार विश्वास के अलावा अलका लांबा भी नहीं पहुंचीं।

इन बिंदुओं को लेकर आप चुनाव में उतरेगी

-भाजपा ने सत्ता में आने से पहले वादा किया था कि किसानों को उनकी फसल का सही दाम दिया जाएगा। भाजपा सरकार से किसानों का हक देने की मांग की जाएगी

- सत्ता में आने से पहले भाजपा ने नारा दिया था बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ। आप का मानना है कि महिला सुरक्षा में भाजपा नाकाम साबित हुई है। आप की राष्ट्रीय परिषद भाजपा से महिला सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम की मांग करेगी।

-दिल्ली में शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार के संबंध में दिल्ली सरकार ने जो काम किए हैं, उसको लेकर एक वीडियो तैयार किया गया है। बैठक में तय हुआ है कि सभी राज्यों में यह वीडियो लोगों को दिखाया जाएगा। आम आदमी पार्टी का मानना है कि किसी भी देश का विकास तभी हो सकता है, जब वहां की शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार की व्यवस्थाएं मजबूत हों।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस