राज्य ब्यूरो, श्रीनगर। ईयू के प्रतिनिधिमंडल ने सेना, प्रशासन, नेता और नागरिक संगठनों से मुलाकात की। प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों ने सबसे पहले बादामी बाग स्थित सेना की चिनार कोर मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। लगभग दो घंटे तक चली बैठक में चिनार कोर कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लो व सेना के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने कश्मीर में आतंकवाद व इस्लामिक जिहाद को बढ़ावा देने की पाकिस्तानी साजिशों की तथ्यों के साथ पोल खोली तो उत्तरी कश्मीर में पाकिस्तानी सेना द्वारा संघर्ष विराम उल्लंघन करने, नागरिक बस्तियों को निशाना बनाने व आतंकियों की घुसपैठ की कोशिशों से भी अवगत कराया।

पुलिस और प्रशासन ने भी दी यूरोपीय दल को कश्मीर के बारे में जानकारी

वहीं, पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों ने भी प्रतिनिधिमंडल को कश्मीर में सामान्य होते हालात, अनुच्छेद 370 को हटाए जाने की आवश्यकता, रोजगार और विकास से जुड़े मामलों की जानकारी दी।

राजनीतिक दलों के नेताओं ने की मुलाकात

ईयू सांसदों के दल ने भारतीय जनता पार्टी, जनता दल यूनाइटेड, डेमोक्रेटिक पार्टी नेशनलिस्ट के अलावा पूर्व पीडीपी नेता अल्ताफ बुखारी से भी मुलाकात की। इसके अलावा पंच-सरपंच वेलफेयर एसोसिएशन के प्रतिनिधि और महिला संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी यूरोपीय प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की।

मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक सफलता

कश्मीर के मुद्दे पर दुनियाभर में पाकिस्तान को अलग-थलग करने के बाद मोदी सरकार यूरोपीय सांसदों को कश्मीर का दौरा कराने में सफल रही है। इसे मोदी सरकार की बड़ी कूटनीतिक सफलता के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि, प्रतिनिधिमंडल में दक्षिणपंथी सांसदों के होने से सवाल भी उठ रहे हैं। इसके अलावा 27 सांसदों में से चार के वापस चले जाने को लेकर भी किए जा रहे हैं।

यूरोपीय दल ने डल झील में की सैर

यूरोपीय सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने श्रीनगर के विभिन्न हिस्सों का भी दौरा किया और उसके बाद डल झील में नौका विहार किया। इस दौरान सदस्यों ने हाउसबोट मालिकों और उनमें रुके पर्यटकों से भी बातचीत कर हालात पर उनकी राय ली। प्रतिनिधिमंडल ने झील की सफाई के कामकाज को भी देखा।

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में आतंकियों ने छह गैर-कश्मीर मजदूरों की हत्या कर दी। आतंकियों ने इस जघन्य हत्याकांड को ऐसे समय में अंजाम दिया है, जब यूरोपीय संघ (ईयू) के सांसदों का 23 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल राज्य के हालात का जायजा लेने दो दिन के दौरे पर मंगलवार को श्रीनगर पहुंचा है। पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद पहली बार कोई विदेशी प्रतिनिधिमंडल राज्य के दौरे पर आया है।

हताश पाक एजेंटों ने कई जगह जबरन बंद के साथ किया पथराव, चार घायल

कश्मीर को लेकर दुनिया भर में दुष्प्रचार में लगे पाकिस्तान और उसके समर्थित आतंकियों व अलगाववादियों ने यूरोपीय प्रतिनिधिमंडल के दौरे को देखते हुए घाटी में बंद रखा है। दुकानों और अन्य प्रतिष्ठानों को जबरन बंद कराया गया, कई जगह पथराव भी हुआ। पथराव कर रहे लोगों और पुलिस के बीच झड़पें भी हुईं, जिसमें चार लोग घायल हो गए।

कुलगाम में पश्चिम बंगाल के मजदूरों को बनाया निशाना

पुलिस ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में पश्चिम बंगाल के मुर्शीदाबाद के रहने वाले मजदूरों को निशाना बनाया। पांच मजदूरों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। सोमवार को आतंकियों ने उधमपुर के एक ट्रक ड्राइवर की हत्या कर दी थी। पांच अगस्त को अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के बाद से यह चौथे ट्रक ड्राइवर की हत्या है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021