राज्य ब्यूरो, जम्मू। जम्मू-कश्मीर में भय और आतंकवाद तथा इसे शह देने वालों के दिन अब लद गए हैं, अब बस विकास और लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने की बारी है। यह विश्वास पीएम मोदी के 36 मंत्री जम्मू कश्मीर के इतिहास में पहली बार चली केंद्र सरकार की मुहिम में यहां के लोगों में जगा गए हैं।

आउटरीच मुहिम के दूसरे चरण के तहत अब मार्च में आएंगे मंत्री

अब मार्च महीने में आउटरीच मुहिम के दूसरे चरण में केंद्रीय मंत्री फिर जम्मू-कश्मीर के दौरे पर आएंगे।

लोगों के बीच विश्वास की आस जगा गए मोदी के 36 मंत्री

सात दिवसीय आउटरीच मुहिम के तहत राज्य के साठ ब्लॉकों में लोगों के बीच गए केंद्रीय मंत्री जाते-जाते यह वादा भी कर गए कि अब विकास को रफ्तार मिलेगी। मंत्रियों के सामने यहां के लोगों ने उम्मीदों का पिटारा खोला और अपनी मुश्किलों की तस्वीर पेश की।

लोगों के मसलों का लेखा जोखा प्रधानमंत्री को सौंपा जाएगा

लोगों द्वारा उजागर किए मसलों का लेखा जोखा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सौंपा जाएगा। इसके बाद जल्द ही जम्मू कश्मीर के विकास को लेकर उनकी उम्मीदों के अनुरूप नीति बनाई जाएगी। इस कार्यक्रम की खास बात यह रही कि मंत्रियों ने लोगों से अनुच्छेद 370 हटने से हुए बदलाव पर फीडबैक भी लिया।

सात दिन और 300 विकास कार्य

सात दिनों में 36 केंद्रीय मंत्रियों ने करीब 300 विकास कार्यों का उद्घाटन भी किया। ये उद्घाटन सड़कों, बिजली, खेल, जल सप्लाई प्रोजेक्ट के थे। वहीं, शुक्रवार को आउटरीच मुहिम के अंतिम दिन कश्मीर के श्रीनगर में केंद्रीय मंत्री रमेश पोखरियाल और बारामुला जिले में रवि शंकर प्रसाद थे। वहीं, गिरिराज सिंह ने ऊधमुपर, फग्गन सिंह कुलस्ते ने पुंछ और प्रहलाद जोशी ने राजौरी में कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। इसके अलावा गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने दिल्ली लौटने से पहले जम्मू में आउटरीच मुहिम की समीक्षा की। वह उपराज्यपाल जीसी मुर्मू से भी मिले और सुरक्षा और विकास पर बात की।

अलगाववादियों को आइना

केंद्रीय कानून एवं न्याय और सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने कहा कि वह विशेषतौर पर कश्मीर के युवाओं के हौसले के कायल हो गए। कश्मीर के युवा शांति, विकास के माहौल में आगे बढ़ना चाहते हैं। वह शुक्रवार को सोपोर में विभिन्न विकास योजनाओं का उद्घाटन के बाद लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यह सोपोर कस्बा जो दुनियाभर में अपने सेबों के लिए प्रसिद्ध है, आतंकवाद के कारण पिछड़ गया था, अब यह जल्द ही विकास की दौड़ में आगे नजर आएगा।

संविधान के 73वें और 74वें संशोधन भी जल्द होगा लागू

उन्होंने यकीन दिलाया कि संविधान के 73वें और 74वें संशोधन को भी यहां जल्द ही लागू किया जाएगा। सोपोर में भी जल्द ही एक इंडोर स्पो‌र्ट्स स्टेडियम विकसित किया जाएगा। पूरे बारामुला जिले में खेल ढांचे को अत्याधुनिक बनाया जाएगा।

Posted By: Bhupendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस