गोरखपुर, जेएनएन। भारत में वियतनाम के राजदूत फाम सन्ह चौ ने कहा कि भारत-वियतनाम के मध्य पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए दोनों देश साझा प्रयास कर रहे हैं। इसी के तहत हनोई-कोलकाता सीधी वायु सेवा शुरू हुई है। जल्द ही बस सेवा शुरू करने की योजना पर भी तेजी से कार्य चल रहा है। फाम सन्ह चौ शिष्टमंडल के साथ ही बुधवार को सुबह कुशीनगर आए।

दिल्ली से वियतनाम के लिए शुरू होगी विमान सेवा

कुशीनगर में पत्रकारों से बातचीत में फाम सन्ह चौ ने बताया कि अक्टूबर के अंत में दिल्ली और वियतनाम के हो ची मिन्ह सिटी के बीच हवाई सेवा शुरू हो जाएगी।

कुशीनगर ने भी उड़ान पर विचार संभव

उन्‍हाेंने बताया कि अब भारत के पर्यटकों के लिए वियतनाम में वीजा आन एराइवल की सुविधा उपलब्ध है। राजदूत ने उम्मीद जताई कि हवाई सेवा शुरू होने से दोनों देशों के मध्य परस्पर आवागमन बढ़ेगा। जिससे पर्यटन के साथ-साथ उद्योग-व्यापार के क्षेत्र में क्रांति आएगी। साहित्य कला, संस्कृति, धर्म को भी दोनों देशों के लोग जान समझ सकेंगे। एक प्रश्न के उत्तर में राजदूत ने कहा कि वियतनाम के पर्यटक बौद्ध सर्किट के कुशीनगर आते हैं। यदि कुशीनगर का एयरपोर्ट शुरू होता है तो वियतनाम सरकार यहां से वायु सेवा शुरू करने पर विचार कर सकती है।

भारत आया है आठ सदस्‍यीय दल

फाम सन्ह चौ आठ सदस्यीय टीम के साथ धार्मिक यात्रा पर बोधगया आए थे। बोधगया से प्रतिनिधिमंडल के साथ बुधवार को कुशीनगर आए। उन्होंने बताया कि हनोई-कोलकाता सीधी वायु सेवा अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में शुरू हुई है।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप