नई दिल्‍ली, जेएनएन। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्वीटर ने भारत की शिकायत के बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैजल का निजी ट्विटर हैंडल निलंबित कर दिया है। ट्वीटर की ओर से मंगलवार रात को ये सख्‍त कदम उठाया। इसकी जानकारी पाकिस्‍तान की एक जर्नलिस्‍ट ने भी अपने ट्विटर हैंडल पर साझा की है। पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले के बाद भारत हर स्‍तर पर पाकिस्‍तान को बेनकाब कर विश्‍व को इस मुल्‍क का असली चेहरा दिखाने की कोशिश कर रहा है।

ट्विटर ने मंगलवार रात पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मोहम्मद फैजल का निजी ट्विटर हैंडल सस्पेंड कर दिया है। मीडिया में आई खबरों में मुताबिक, पाकिस्तान के विदेश विभाग (एफओ) के प्रवक्ता डॉक्टर फैजल के निजी ट्विटर हैंडल @DrMFaisal को भारत सरकार की ओर ट्विटर को की गई शिकायत के बाद निलंबित कर दिया गया है।

दरअसल, डॉक्टर फैजल अपने ट्विटर हैंडल से कुलभूषण जाधव मामले की लगातार जानकारी साझा कर रहे थे। कुलभूषण जाधव केस की सुनवाई इस समय हेग में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में चल रही है। साथ ही उन पर यह भी आरोप है कि कश्मीर के बारे में भी लगातार टिप्पणी कर रहे थे। कुलभूषण जाधव को जासूसी के मामले में पाकिस्तान स्थित मिलिट्री कोर्ट ने 2 साल पहले 2017 में अप्रैल में मौत की सजा सुनाई थी। इस फैसले के खिलाफ भारत ने मई 2017 में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में अपील की थी।

जाधव मामले में पाकिस्तान की अड़ंगेबाजी नाकाम
भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले में अड़ंगेबाजी पर उतारू हुए पाकिस्तान को नाकामी हाथ लगी है। मामले की सुनवाई स्थगित करने के उसके आग्रह को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) ने मंगलवार को ठुकरा दिया। हेग स्थित इस न्यायालय में जाधव मामले पर सोमवार से चार दिवसीय सुनवाई शुरू हुई है। दूसरे दिन पाकिस्तान ने अपना पक्ष रखा और दावा किया कि जाधव कारोबारी नहीं, जासूस है। पहले दिन पूर्व सॉलिसिटर जनरल हरीश साल्वे ने भारत का पक्ष रखते हुए पाकिस्तान के झूठ की धज्जियां उड़ा दी थीं। उन्होंने सिलसिलेवार ढंग से दलीलें पेशकर जाधव पर पाकिस्तान के आरोपों को कोरा झूठ साबित किया था। पाकिस्तान ने दूसरे दिन सबसे पहले आईसीजे के जज से सुनवाई स्थगित करने का आग्रह किया। उसने इसके लिए अपने तदर्थ जज के बीमार होने का हवाला दिया। सुनवाई शुरू होने से पहले आईसीजे में पाकिस्तान के तदर्थ जज टी हुसैन जिलानी को हार्ट अटैक आया था। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व कर रहे अटॉर्नी जनरल अनवर मसूद खान ने इसका हवाला देकर सुनवाई स्थगित करने का आग्रह किया। लेकिन वैश्विक अदालत ने पाकिस्तान की याचिका को अस्वीकार कर दिया और कहा कि तदर्थ जज की अनुपस्थिति में अपनी दलील पेश करें।

Posted By: Tilak Raj

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप