गोरखपुर, जेएनएन। भारत-नेपाल सीमा से सटे सिद्धार्थनगर जिले के गौतमबुद्ध की क्रीड़ा स्थली कपिलवस्तु में ट्रांजेक्शन जोन बनेगा। इससे विदेशी पर्यटकों को काफी सहूलियत होगी। ट्रांजेक्शन जोन में विदेशी मुद्रा एक्सचेंज करने का भी इंतजाम होगा। इसके लिए राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खोली जाएगी।

संसदीय स्थायी समिति ने दी मंजूरी

संसदीय स्थायी समिति ने इसे लागू करने की संस्तुति प्रदान कर दी है। समिति का मानना है कि इससे पर्यटकों को विदेशी मुद्रा को रुपये में बदलने के लिए बिचौलियों के पास नहीं जाना पड़ेगा। बौद्ध पर्यटन स्थल व नगरीय क्षेत्रों से भी सामंजस्य बैठाया जाएगा। 

पर्यटन महानिदेशक ने दिया आदेश

महानिदेशक पर्यटन अवनीश कुमार अवस्थी व सहायक महानिदेशक (स्वदेश दर्शन) भारती शर्मा ने इस संबंध में जिलाधिकारी को निर्देशित किया है। जुलाई में संसदीय स्थायी समिति के सदस्यों ने जिले का दौरा किया था। उसके बाद शासन को रिपोर्ट सौंपी गई थी। रिपोर्ट में यह जिक्र है कि पर्यटन स्थल पर आने वाले पर्यटकों को विदेशी मुद्रा बदलने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

यातायात के साधन को मिलेगा बढ़ावा

जिला मुख्यालय से कपिलवस्तु की दूरी करीब 22 किमी है। आवागमन के साधन की कमी है। संसदीय समिति ने इस कमी को संज्ञान में लिया है। रिपोर्ट में स्तूप तक आवागमन के साधन बढ़ाने का सुझाव दिया है।

प्रतिदिन आते हैं करीब 300 सैलानी

कपिलवस्तु स्तूप के दर्शन करने के लिए प्रतिदिन करीब 300 बौद्ध पर्यटक आते हैं। यह श्रीलंका, थाईलैंड, जापान, कंबोडिया आदि देश के पर्यटक होते हैं। पर्यटन विभाग के अनुसार बारिश के समय पर्यटकों की आमद नहीं के बराबर होती है। गर्मी के मौसम में कम हो जाती है।

संसदीय स्थाई समिति ने कपिलवस्तु में ट्राजेक्शन जोन बनाने का निर्णय लिया है। विदेशी मुद्रा एक्सचेंज होने से पर्यटकों को सहूलियत मिलेगी। - दीपक मीणा, जिलाधिकारी, सिद्धार्थनगर

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप