गोरखपुर, जेएनएन। यूपी के महराजगंज जिले की दो बेटियों अंजलि व पुष्पा को अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर 11 अक्टूबर को दिल्ली में एक दिन के लिए इक्वाडोर व लातविया देश के राजदूत के पद पर काम करने का अवसर मिला। उनकी सफलता से परिजन व क्षेत्र के लोग गौरवांवित हैं।

10वीं की छात्रा है अंजलि

महराजगंज जिले के नौतनवा तहसील क्षेत्र के महेशपुर मेंहदिया गांव निवासी विजय बहादुर की पुत्री अंजलि राव भगीरथी कृषक इंटर कालेज भगीरथपुर में 10वीं की छात्रा है। पढ़ाई के साथ ग्राम नियोजन केंद्र  (जीएनके) से भी जुड़ी है।

उसके पिता किसान व माता करिश्मा देवी दिव्यांग हैं। लेकिन दोनों बेटी की शिक्षा के लिए किसी भी तरह की कमी नहीं छोडऩा चाहते। इसका सुफल बिटिया को मिला है और एक दिन के लिए इक्वाडोर देश की राजदूत बनी। इसका श्रेय अंजलि अपने माता-पिता को देतीं हैं।

इंटर की पढ़ाई कर रही है पुष्‍पा

इसी तरह सोनौली कस्बे के कैलाश नगर वार्ड निवासी स्व. मोतीलाल की पुत्री पुष्पा गौड़ इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई कर जीएनके संस्था से जुड़ी। बेहतर कार्य के लिए संस्था ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर प्लान इंडिया के लिए नाम भेजा। जहां पुष्पा को एक दिन के लिए लातविया देश का कार्यकारी राजदूत बनाया गया। पुष्पा ने बताया कि पढ़ी-लिखी महिलाएं ही बाल विवाह, बाल श्रम जैसी समाजिक बुराइयों को मिटा सकतीं हैं।

जीएनके प्लान के अंतर्गत दोनों लड़कियों का चयन किया गया। लड़कियों ने आत्म सुरक्षा, बाल विवाह, बाल मजदूरी, अशिक्षा, दहेज उन्मूलन जैसी सामाजिक बुराइयों को दूर करने में  सराहनीय कार्य किया है। संस्था के माध्यम से दोनों बेटियों को  भारत में एक दिन के लिए इक्वाडोर व लातविया का राजदूत बनाया गया। - विभाष चटर्जी, परियोजना निदेशक, जीएनके प्लान 

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप