इस्लामाबाद, प्रेट्र। पाकिस्तान के सांसद और विधायक मंगलवार को देश के नए राष्ट्रपति का चुनाव करेंगे। इस चुनाव में सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के उम्मीदवार डॉ आरिफ अल्वी का जीतना तय माना जा रहा है क्योंकि विपक्ष संयुक्त उम्मीदवार खड़ा करने में नाकाम रहा। दंत चिकित्सा से सियायत में कदम रखने वाले अल्वी प्रधानमंत्री इमरान खान के करीबी हैं।

राष्ट्रपति पद की होड़ में अल्वी के अलावा बिलावल भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के एतजाज अहसान और जमीयत-उलमा-ए-इस्लाम के प्रमुख मौलाना फजलुर रहमान भी शामिल हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि विपक्ष साझा उम्मीदवार खड़ा कर अल्वी को कड़ी चुनौती दे सकता था, लेकिन वह इसमें विफल रहा। पीपीपी ने पिछले महीने जाने-माने वकील अहसान को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया था।

उसका यह कदम पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) और मुत्तहिदा मजलिस-ए-अमाल को पसंद नहीं आया था। इन दलों ने रहमान का समर्थन किया है। मौजूदा राष्ट्रपति ममनून हुसैन का कार्यकाल आठ सितंबर को समाप्त हो रहा है। पाकिस्तान चुनाव आयोग (ईसीपी) के अनुसार, राष्ट्रपति चुनाव के लिए नेशनल असेंबली और चारों प्रांतीय विधानसभाओं में मतदान केंद्र बनाए गए हैं। मुख्य चुनाव आयुक्त सरदार रजा खान रिटर्निग अधिकारी की भूमिका में रहेंगे।

Posted By: Ravindra Pratap Sing