वाशिंगटन, (प्रेट्र)। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मंगलवार को विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन को बर्खास्त कर दिया। उनके स्थान पर सीआइए के निदेशक माइक पांपियो को नया विदेश मंत्री बनाया गया है। सीआइए में पांपियो की जगह जीना हास्पेल ने ली है। वह पहले इसी एजेंसी में उपनिदेशक थीं। हास्पेल इस पद को संभालने वाली पहली महिला हैं।

ट्रंप ने ट्वीट कर ये अप्रत्याशित घोषणाएं तब कीं, जब टिलरसन अफ्रीकी दौरे पर गए हुए हैं। ट्रंप ने कहा, 'सीआइओ माइक पांपियो हमारे नए विदेश मंत्री होंगे। वह शानदार काम करेंगे।' हालांकि अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट से नई नियुक्ति की पुष्टि जरूरी होगी। ह्वाइट हाउस से जारी बयान के मुताबिक, ट्रंप ने विश्वास जताया कि इस नाजुक मोड़ पर माइक इस काम के लिए सही व्यक्ति साबित होंगे। उन्होंने कहा, 'माइक दुनिया में अमेरिका के रुख को कायम रखने, हमारे गठबंधन को मजबूत करने, विरोधियों से निपटने और कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण के हमारे कार्यक्रम को जारी रखेंगे।'

ट्रंप ने कहा कि सेना, संसद और सीआइए में उनके अनुभव ने उन्हें नई भूमिका के लिए तैयार किया है। उन्होंने कहा कि माइक और जीना ने करीब एक साल तक साथ काम किया है। ट्रंप ने जीना को सीआइए का सर्वोच्च पद देने को 'ऐतिहासिक और मील का पत्थर' बताया है। अमेरिकी राष्ट्रपति ने टिलरसन को उनकी सेवाओं के लिए धन्यवाद दिया। एक्सन मोबिल के पूर्व चेयरमैन और सीईओ 65 वर्षीय टिलरसन को पिछले साल एक फरवरी को विदेश मंत्री बनाया गया था।

कौन हैं पहली महिला सीआइए प्रमुख

जीना हास्पेल 1985 से सीआइए से जुड़ीं हैं। उपनिदेशक के पद पर वह पिछले साल फरवरी में आईं। वह अधिकतर समय गुप्त एजेंट की तरह ही काम करती रही हैं। हास्पेल 2002 में थाईलैंड में बदनाम हुई 'ब्लैक साइट' चलाती थीं। वहां अलकायदा के संदिग्ध आतंकी अबु जुबैदा और अल नशीरी को रखा गया था। वहां पूछताछ के दौरान आतंकियों को खूब प्रताडि़त किया जाता था। हास्पेल के कामकाज पर सीनेट की कमेटी ने भी अंगुली उठाई थी।

By Arti Yadav