नई दिल्ली, जेएनएन। अमेरिका से भारत व दक्षिण एशिया के दूसरे देशों को वैक्सीन की 70 लाख डोज मिलेगी। इसकी घोषणा अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने गुरुवार को की। अमेरिकी राष्ट्रपति की तरफ से जारी घोषणा में बताया गया है कि अमेरिका अगले कुछ महीनों में कुल 2.5 करोड़ डोज वैक्सीन दुनिया के तमाम देशों से साझा करेगा।

साथ ही अमेरिका ने यह भी कहा है कि वह दुनिया के देशों में वैक्सीन की कमी को पूरी करने के लिए दूसरे स्तरों पर भी मदद करेगा और इस काम के लिए अमेरिकी वैक्सीन कंपनियों व दूसरे देशों की वैक्सीन निर्माता कंपनियों के साथ भी सहयोग किया जाएगा। अमेरिका के इस कदम के बड़े कूटनीतिक आयाम भी निकाले जा रहे हैं और इसे कोरोना महामारी से त्रस्त विश्व में अमेरिका का कद बढ़ाने से जोड़ कर भी देखा जा रहा है।

व्हाइट हाउस की तरफ से जारी बयान में बताया गया है कि अमेरिका कुल आठ करोड़ डोज वैक्सीन दूसरे देशों को आपूर्ति करेगा। पहले चरण में कुल 2.5 करोड़ डोज वैक्सीन कैसे व किस देश की दी जाएगी, इसका विवरण दिया गया है। इसमें से 75 फीसद वैक्सीन कोवैक्स अभियान के तहत देने की बात कही गई है। दक्षिणी अमेरिकी, कैरेबियाई, दक्षिणी व दक्षिणी पूर्वी एशियाई व अफ्रीका के देशों को प्राथमिकता पर वैक्सीन दी जाएगी।

25 फीसद वैक्सीन तुरंत उन देशों को मदद के तौर पर देने की बात है जहां इसकी ज्यादा जरूरत है या जहां कोरोना महामारी का प्रकोप ज्यादा है। इसमें आगे कहा गया है कि 70 लाख डोज वैक्सीन भारत, नेपाल, बांग्लादेश, पाकिस्तान, श्रीलंका, अफगानिस्तान, मालदीव, मलेशिया, फिलीपींस, वियतनाम, इंडोनेशिया, थाइलैंड, ताइवान आदि देशों को मिलेगी।

भारत को कितनी वैक्सीन मिलेगी, यह नहीं बताया गया है। प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि हर देश को कितनी वैक्सीन मिलेगी, इसका निर्धारण प्रशासनिक स्तर पर होगा। राष्ट्रपति बाइडन ने कहा है कि वैक्सीन की यह आपूर्ति किसी देश का समर्थन जीतने के लिए नहीं की जाएगी, बल्कि यह सिर्फ दुनिया के लोगों की जान बचाने व महामारी की समाप्ति के लिए होगी।

अमेरिका कोरोना महामारी के खात्मे की लड़ाई में अगवानी करने के लिए यह कदम उठा रहा है। उन्होंने यह भी कहा है कि महामारी को समाप्त करने के लिए मजबूत नेतृत्व की जरूरत है और अमेरिका इस लड़ाई के खिलाफ विश्व का मददगार होगा। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप