महराजगंज, जेएनएन। भारत ही नहीं नेपाल में भी दशहरा की धूम है। नेपाल के बहुत से लोग भारतीय शहरों में नौकरी करते हैं जो दशहरा में नेपाल जाते हैं। नेपाल में दशहरा बिहार में मनाए जाने वाले छठ जितना महत्‍वपूर्ण माना जाता है। इस पर्व पर हर नेपाली अपने घर पहुंचना चाहता है। भारी भीड़ के कारण नेपाल के घरेलू उड़ानों के हवाई जहाजों पर टिकट फुल हो चुके हैं।

एक माह पूर्व बुक हो गए सभी टिकट

भारत के विभिन्न प्रांतों में कमाने गए या नौकरी पेशा नेपाली नागरिक अपने घर वापस आ रहे हैं। ऐसे में नेपाल की यातायात व्यवस्था पर बोझ बढ़ गया है। आलम यह है कि नेपाल के सभी घरेलू हवाई जहाज के टिकट एक माह पहले ही बुक हो गए हैं। तत्काल टिकट के लिए यात्रियों को निराशा हाथ लग रही है। किसी को भी टिकट नहीं मिल पा रही है।

घरेलू विमान कंपनियों की चांदी

हवाई टिकट की मारामारी को देखते हुए भैरहवा, जनकपुर, पोखरा, भद्रपुर, विराटनगर, नेपालगंज व धनगढ़ी हवाई अड्डे से संचालित होने वाली घरेलू विमान कंपनियों ने भी हवाई टिकट का मूल्‍य बढ़ा दिए हैं।

दो गुना हुआ हवाई जहाज का टिकट

नेपाल के विभिन्न घरेलू हवाई अड्डे से बुद्ध एयर, यति एयरलाइंस, सीता एयरलाइंस, सिमरिक एयरलाइंस, सीमिट एयरलाइंस व तारा एयरलाइंस आदि कंपनियों के हवाई जहाज संचालित होते हैं। शारदीय नवरात्र की शुरुआत होते ही इनके टिकटों के मूल्य में इजाफा हो गया है। सोनौली व बेलहिया कस्बा में हवाई टिकट के कालाबाजारी भी शुरू हो गई है। जो टिकट पहले 3500-4000 में मिलते थे। अब वह टिकट 7000-9000 हजार में मिल रहे हैं।

Posted By: Pradeep Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप