वॉशिंगटन, (एजेंसी)। अमेरिका ने एक बार फिर आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं करने पर पाकिस्तान की निंदा की है। अमेरिकी सेना के वरिष्ठ कमांडर ने कहा है कि पाकिस्तान ने तालिबान और हक्कानी नेटवर्क जैसे आतंकी संगठनों के खिलाफ अभी तक निर्णायक कार्रवाई नहीं की है। ऐसे में पाकिस्तान को अमेरिकी सुरक्षा सहायता पर रोक जारी रहेगी।

जनरल जोसफ वोटेल की टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब अमेरिका ने आतंकवाद के खिलाफ अधिक कार्रवाई करने के लिए पाकिस्तान पर दबाव बढ़ाया है। पिछले महीने की शुरआत में अमेरिका ने आतंकी संगठनों को पनाह देने को लेकर पाकिस्तान को दो अरब डॉलर (करीब 13049 करोड़ रुपये) की सुरक्षा सहायता रोक दी थी। वोटेल ने कहा, 'मौजूदा स्थिति वैसी ही है। हमें उम्मीद है, भविष्य में हमें इसकी समीक्षा करनी होगी।' अमेरिकी सेंट्रल कमान के कमांडर वोटेल ने अमेरिकी संसद के उच्च सदन सीनेट की सशस्त्र सेवा समिति के सामने यह बात कही। उनसे पाकिस्तान को अमेरिकी सुरक्षा सहायता रोकने के भविष्य के बारे में पूछा गया था।

वोटेल ने कहा कि पाक से संचार, सूचना आदान-प्रदान और मांगी गई विशेष जानकारी में सहयोग बढ़ा है। लेकिन आतंकवाद के खिलाफ खासकर अफगान तालिबान या हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ अभी तक पाकिस्तान ने निर्णायक कार्रवाई नहीं की है। इसके चलते पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच सीमा पार से आतंकी हमलों में वृद्धि हुई। दोनों देशों की सीमा सुरक्षा तालमेल में बाधाएं आई। उन्होंने कहा कि अमेरिका ने अपने कर्मियों और हितों को निशाना बनाने वाले आतंकी संगठनों को पाकिस्तान में पनाहगाह देने पर चिंता जताई है। वोटेल ने यह भी कहा कि पाकिस्तान के सहयोग के बिना अफगानिस्तान में स्थिरता लाना और आतंकवाद को हराना मुश्किल होगा। एक सवाल के जवाब में वोटेल ने कहा कि ट्रंप प्रशासन द्वारा डाले गए दबाव के बाद हाल में पाकिस्तान से सकारात्मक जवाब मिले हैं। 

Posted By: Arti Yadav

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप