अबु धाबी, एएनआइ। अबु धाबी के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने पीएम नरेंद्र मोदी को अपना मित्र बताया है। उन्‍होंने कहा कि अबु धाबी उनका दूसरा घर है। साथ ही यूएई के निर्माण में हर भारतीय के सहयोग की सराहना करते हुए यह भी कहा कि भारतीय समुदाय पर विश्‍वास जताया जा सकता है। मीडिया से बातचीत में विदेश सचिव विजय गोखले ने यह बात कही।

आपको बता दें कि पीएम मोदी तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण के तहत जॉर्डन से शनिवार को अबु धाबी पहुंचे, जहां एयरपोर्ट पर क्राउन प्रिंस के साथ शाही परिवार के अन्‍य सदस्‍य भी उनकी आगवानी को मौजूद थे। दोनों नेताओं ने एयरपोर्ट पर एक दूसरे को गले लगाया। पीएम मोदी ने भव्‍य स्‍वागत के लिए अबु धाबी के क्राउन प्रिंस का शुक्रिया अदा किया और कहा कि उनकी यात्रा का भारत-यूएई संबंध पर सकारात्मक असर पड़ेगा। दोनों देशों के बीच पांच समझौते भी हुए हैं।

गोखले ने कहा कि अबु धाबी के क्राउन प्रिंस ने पीएम मोदी को अपना मित्र बताया है और इससे भी ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण बात ये है कि एक मौके पर अबु धाबी के क्राउन प्रिंस ने कहा कि यूएई के निर्माण में भारतीयों का जो सहयोग है, उसका अबु धाबी का हर नागरिक सराहना करता है। गोखले ने इस बात की जानकारी भी दी कि नाहयान ने भारत की 'कड़ी मेहनत' और 'विश्वसनीयता' पर जोर दिया। उन्‍होंने कहा कि भारतीयों ने अपनी कड़ी मेहनता और विश्वसनीयता से इस देश का निर्माण किया है। भारतीय समुदाय पर विश्‍वास किया जा सकता है। क्राउन प्रिंस ने जोर देते हुए भारतीयों के लिए 'विश्‍वास' शब्‍द का इस्‍तेमाल किया।

गोखले ने आगे कहा कि अबु धाबी में जिस तरह से स्‍वागत किया गया, वो भी वाकई में एक 'असाधारण सम्मान' था। अबु धाबी के क्राउन प्रिंस और शाही परिवार के सभी सदस्‍य पीएम मोदी के स्‍वागत के लिए एयरपोर्ट पर मौजूद थे। यह वाकई में एक असाधारण सम्मान था।

गौरतलब है पीएम मोदी संयुक्‍त अरब अमीरात पहुंचने से एक दिन पहले शुक्रवार को वहां की मशहूर इमारतें भारतीय तिरंगे के रंगों वाली रोशनी से रंग गई। दुनिया की सबसे ऊंची इमारत बुर्ज खलीफा और दुबई फ्रेम को तिरंगे के रंग से सजाया गया। वहां की मीडिया में भी पीएम मोदी के दौरे को लेकर काफी चर्चा हो रही है। यूएई के खलीज टाइम्स में पीएम मोदी के दौरे का शानदार कवरेज किया गया।

शनिवार शाम को प्रधानमंत्री मोदी अबू धाबी पहुंचे, जहां उनका भव्‍य स्‍वागत किया गया। इसके बाद उन्‍होंने अबू धाबी के क्राउन प्रिंस से राष्‍ट्रपति भवन में मुलाकात की। यूएई में भारत के एंबेसडर ने ट्विटर पर कुछ तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा, 'जब तस्वीरें शब्दों से ज्यादा बोलती हैं।'

दोनों के बीच ऊर्जा, रेलवे, श्रमशक्ति और वित्तीय सेवाओं जैसे क्षेत्रों में पांच समझौते भी हुए। भारतीय दूतावास की ओर जारी से एक बयान में कहा गया कि इंडियन कंसोर्टियम (ओवीएल, बीपीआरएल और आईओसीएल) और अबूधाबी नेशलन ऑयल कंपनी (एडीएनओसी) के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए गए। इसमें कहा गया कि यह यूएई के अपस्ट्रीम ऑयल सेक्टर में पहला भारतीय निवेश है। इसके अलावा श्रमशक्ति, रेलवे और आर्थिक क्षेत्र में दोनों देशों के बीच समझौते किए गए। 

Posted By: Pratibha Kumari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस