Krishna ki andelhi dunia:  "भांडीर वन"

स्वागत हैं आपका जागरण के स्पेशल पॉडकास्ट में। "श्री कृष्णा की अनदेखी दुनिआ" के आखरी पॉडकास्ट में हम आपको लेकर चलेंगे "भांडीर वन" । "भांडीर वन" में हुआ था राधा कृष्ण का विवाह हैं। "भांडीर वन" की दूरी मथुरा से लगभग 20 किमी. है। राधा-कृष्ण से जुड़ी होने के कारण इस जगह को बहुत ही पवित्र माना जाता है। जिस जगह पर राधा-कृष्ण का विवाह हुआ था, आज भी वह पेड़ मौजूद है। उस पेड़ के नीचे ही राधा-कृष्ण के साथ भगवान ब्रह्मा की मूर्ति स्थापित है। भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी के बारे में यह माना जाता है कि इन दोनों के बीच प्रेम संबंध था। जबकि असलियत यह है कि कृष्ण और राधा के बीच प्रेम से बढ़कर भी एक नाता था। यह नाता है पति-पत्नी का। गर्ग संहिता के अनुसार मथुरा के पास स्थित भांडीर वन में भगवान श्री कृष्ण और देवी राधा का विवाह हुआ था। इस संदर्भ में कथा है कि एक बार नंदराय जी बालक श्री कृष्ण को लेकर भांडीर वन से गुजर रहे थे। उसे समय आचानक देवी राधा प्रकट हुई। देवी राधा के दर्शन पाकर नंदराय जी ने श्री कृष्ण को राधा जी की गोद में दे दिया। श्री कृष्ण बाल रूप त्यागकर किशोर बन गए। तभी ब्रह्मा जी भी वहां उपस्थित हुए। ब्रह्मा जी ने कृष्ण का विवाह राधा से करवा दिया। कुछ समय तक कृष्ण राधा के संग इसी वन में रहे। फिर देवी राधा ने कृष्ण को उनके बाल रूप में नंदराय जी को सौंप दिया।

">j.src='https://www.googletagmanager.com/gtm.js?id='+i+dl;f.parentNode.insertBefore(j,f); })(window,document,'script','dataLayer','GTM-5CTQK3');

Shri Krishna ep 4 : "भांडीर वन" में हुआ था राधा कृष्ण का विवाह

Shri Krishna ep 4 : "भांडीर वन" में हुआ था राधा कृष्ण का विवाह

Shri Krishna ep 4 : "भांडीर वन" में हुआ था राधा कृष्ण का विवाह

Krishna ki andelhi dunia:  "भांडीर वन"

स्वागत हैं आपका जागरण के स्पेशल पॉडकास्ट में। "श्री कृष्णा की अनदेखी दुनिआ" के आखरी पॉडकास्ट में हम आपको लेकर चलेंगे "भांडीर वन" । "भांडीर वन" में हुआ था राधा कृष्ण का विवाह हैं। "भांडीर वन" की दूरी मथुरा से लगभग 20 किमी. है। राधा-कृष्ण से जुड़ी होने के कारण इस जगह को बहुत ही पवित्र माना जाता है। जिस जगह पर राधा-कृष्ण का विवाह हुआ था, आज भी वह पेड़ मौजूद है। उस पेड़ के नीचे ही राधा-कृष्ण के साथ भगवान ब्रह्मा की मूर्ति स्थापित है। भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी के बारे में यह माना जाता है कि इन दोनों के बीच प्रेम संबंध था। जबकि असलियत यह है कि कृष्ण और राधा के बीच प्रेम से बढ़कर भी एक नाता था। यह नाता है पति-पत्नी का। गर्ग संहिता के अनुसार मथुरा के पास स्थित भांडीर वन में भगवान श्री कृष्ण और देवी राधा का विवाह हुआ था। इस संदर्भ में कथा है कि एक बार नंदराय जी बालक श्री कृष्ण को लेकर भांडीर वन से गुजर रहे थे। उसे समय आचानक देवी राधा प्रकट हुई। देवी राधा के दर्शन पाकर नंदराय जी ने श्री कृष्ण को राधा जी की गोद में दे दिया। श्री कृष्ण बाल रूप त्यागकर किशोर बन गए। तभी ब्रह्मा जी भी वहां उपस्थित हुए। ब्रह्मा जी ने कृष्ण का विवाह राधा से करवा दिया। कुछ समय तक कृष्ण राधा के संग इसी वन में रहे। फिर देवी राधा ने कृष्ण को उनके बाल रूप में नंदराय जी को सौंप दिया।

5.24 mins