बेंगलूर। विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल [81 रन, 8 छक्का] की धमाकेदार पारी के अलावा अंतिम ओवरों में सौरभ तिवारी [नाबाद 36] और एबी डीबिलियर्स [39] की खेली गई लाजवाब पारी की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर ने आईपीएल-पांच के 21वें मुकाबले में पुणे वारियर्स को अंतिम गेंद तक खींचे मुकाबले में छह विकेट से हरा दिया।

अच्छी शुरुआत का फायदा उठाते हुए पुणे ने 20 ओवर में छह विकेट पर 182 रन बनाए। पुणे के लिए ओपनर राबिन उथप्पा [69] ने 45 गेंदों में नौ चौके व दो छक्के के साथ टीम के लिए सबसे बड़ी पारी खेली। जबकि जेसी राइडर [34] और मार्लोन सैमुअल्स [34] ने भी उपयोगी योगदान दिया। बेंगलूर के लिए विनय कुमार ने दो विकेट झटके। जवाब में बेंगलूर ने गेल की धमाकेदार पारी और अंतिम ओवरों में तिवारी [23 गेंद, 1 चौका व 2 छक्का] और डीविलियर्स [14 गेंद, 2 चौका व 3 छक्का] के बीच मात्र 4.2 ओवरों में की गई अविजित 59 रनों की साझेदारी ने टीम को 20 ओवर में चार विकेट पर 186 रन बनाकर लक्ष्य के पार पहुंचा दिया। बेंगलूर को जीत के लिए अंतिम ओवर में 21 रन चाहिए थे लेकिन दोनों बल्लेबाजों ने एक चौका व तीन छक्का लगाकर टीम की जीत पर मुहर लगा दी। पुणे के आशीष नेहरा ने चार ओवर में एक विकेट के लिए 54 रन खर्च कर डाले। बेंगलूर की पांच मैच में यह दूसरी जीत जबकि पुणे वारियर्स की इतने ही मैच में दूसरी हार है।

विशाल लक्ष्य के जवाब में बेंगलूर ने धीमी शुरुआत की। लेकिन इस सत्र में पहला आईपीएल मैच खेल रहे तिलकरत्ने दिलशान [4] तीसरे ओवर में अशोक डिंडा की गेंद पर विकेट के पीछे स्कूप शाट लगाने के प्रयास में लपके गए। टीम के खाते में पहला बड़ा शाट तीसरे ओवर की आखिरी गेंद पर आया जब मयंक अग्रवाल ने डिंडा की गेंद पर छक्का जड़ दिया। हालांकि अगले ओवर में आशीष नेहरा के ओवर में चौका फिर दो ताबड़तोड़ छक्का जड़कर लय में आने की बल्ले से घोषणा कर दी। पर इसके बाद उनका बल्ला काफी देर तक खामोश रहा। इस बीच भुवनेश्वर कुमार ने काफी अनुशासित गेंद फेंककर गेल को बड़ा शाट खेलने पर कुछ देर तक अंकुश लगाए रखा। बेंगलूर 12 ओवर तक तीन विकेट पर 76 रन बनाकर लक्ष्य से काफी पीछे दिख रहा था। और इसी ओवर में बेंगलूर ने विराट कोहली [16] का विकेट भी गंवा दिया था। संकट में दिख रही टीम के लिए गेल ने 13वें ओवर में राहुल शर्मा के ओवर में अंतिम पांच गेंदों पर लगातार पांच जोरदार छक्के जड़कर टीम का स्कोर धड़ाम से सौ के पार पहुंचा दिया। हालांकि इसके बाद गेल फिर धीमे पड़ गए और 16वें ओवर में नेहरा की गेंद पर लांग आफ पर छक्का जड़ने के बाद अगली ही गेंद पर बोल्ड हो गए। गेल ने आज कुछ आठ छक्के ठोके। गेल के जाने के बाद बेंगलूर के सामने जीत के लिए 24 गेंदों में 55 रन बनाना था। सौरभ तिवारी और एबी डीबिलियर्स ने टीम को लक्ष्य के पार पहुंचाने के लिए अंत तक जोर का प्रयास लगाया।

पहले बल्लेबाजी करते हुए सलामी बल्लेबाजों ने टीम को बढि़या शुरुआत दी। उथप्पा और जेसी राइडर ने धमाकेदार अंदाज में रन बनाते हुए सात ओवर में 63 रन जोड़ लिए। पिछले मैच में मैच जीताऊ पारी खेलने वाले राइडर ने आज भी प्रभावी बल्लेबाजी की। हर्शल पटेल की गेंद पर कैच आउट होने से पूर्व राइडर ने 22 गेंदों में 34 रन [4 चौका व 1 छक्का] बनाए। कप्तान सौरव गांगुली ने उथप्पा का बखूबी साथ दिया। हालांकि गांगुली मात्र छह रन बनाकर विनय कुमार की गेंद पर मयंक अग्रवाल को कैच थमा बैठे। दूसरे विकेट के लिए हुई 45 रनों की साझेदारी में उथप्पा ने ही ज्यादा रन बटोरे। उथप्पा ने 33 गेंदों में इस सत्र का अपना पहला पचासा पूरा किया। उथप्पा की आतिशी पारी का अंत 13वें ओवर में हुआ जब डैनियल विटोरी ने इस ओवर की अंतिम गेंद पर पटेल को कैच थमा बैठे। उथप्पा के जाने के बाद स्टीवन स्मिथ [16 रन, 14 गेंद] और सैमुअल्स [34 रन, 20 गेंद, 1 चौका व 2 छक्का] कुछ अच्छे शाट लगाने के बाद दोनों रन आउट हो गए। एंजेलो मैथ्यूज सात गेंद में 10 रन बनाकर आउट हुए।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप