मोहाली। कप्तान गौतम गंभीर [नाबाद 66 रन, 44 गेंद] की बेहतरीन अर्धशतकीय पारी और ब्रेट ली [2/26] की अगुवाई में गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन के दम पर कोलकाता नाइटराइडर्स ने आईपीएल-पांच के 22वें मुकाबले में पंजाब किंग्स इलेवन को 21 गेंद शेष रहते आठ विकेट से हराकर टूर्नामेंट में मिली पिछली हार का बदला भी चुकता कर लिया।

अच्छी शुरुआत के बावजूद ढीली बल्लेबाजी के कारण पंजाब 20 ओवर में सात विकेट पर 124 रन बना सका। उसकी पूरी पारी में केवल दस बार गेंद ने सीमा रेखा के दर्शन किए। किंग्स इलेवन की तरफ से कप्तान एडम गिलक्रिस्ट [नाबाद 40] ने 30 गेंद पर तीन चौकों और एक छक्के लगाए और शान मार्श [30 गेंद] ने 33 रन बनाए लेकिन दोनों किसी भी समय खतरनाक नहीं दिखे। जवाब में गंभीर की अर्धशतकीय पारी की बदौलत कोलकाता ने लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया। गंभीर ने अपनी अर्धशतकीय पारी में 44 गेंदों में सात चौका व एक छक्का लगाया। गंभीर ने ब्रैंडन मैक्कुलम [15] के बाद जैक्स कालिस [नाबाद 30] के साथ भी तीसरे विकेट के लिए 53 रनों की अविजित साझेदारी निभाई। कोलकाता की तरफ से सुनील नारायण और ब्रेट ली ने दो-दो विकेट लिए जबकि एल बालाजी और रजत भाटिया ने कसी हुई गेंदबाजी करके एक-एक विकेट हासिल किया। जबकि पंजाब की तरफ से पीयूष चावला ने 19 रन देकर दो विकेट झटके। इस जीत से कोलकाता छह में से तीन जीत के साथ तीसरे स्थान पर पहुंच गया जबकि पंजाब सातवें स्थान पर खिसक गया है।

जवाब में मैक्कुलम ने पहले ओवर में प्रवीण कुमार की गेंद पर लगातार दो चौका लगाकर कोलकाता की शुरुआत अच्छी कराई। जबकि चौथे ओवर में कप्तान गौतम गंभीर ने हरमीत सिंह की तीन गेंदों पर एक छक्का व एक चौका जमाकर स्कोर को तेजी से आगे बढ़ाया। मैक्कुलम और गंभीर ने पहले विकेट के लिए 5.3 ओवर में 53 रनों की साझेदारी निभाई। मैक्कुलम चावला के शिकार बने। चावला की एक बेहद खराब गेंद को खेलने के चक्कर में दमित्री को आसान कैच थमा बैठे। मैक्कुलम ने 18 गेंदों में 15 रन बनाए। मैक्कुलम की जगह लेने आए मनविंदर बिसला ने गंभीर का अच्छा साथ देने की कोशिश की लेकिन 10वें ओवर में चावला की गेंद पर वह बोल्ड हो गए। बिसला ने 14 गेंदों में एक छक्का के साथ 10 रन बनाए। दूसरी तरफ बिना किसी हड़बड़ाहट के लक्ष्य का पीछा करते हुए गंभीर ने 14वें ओवर में अपना पचासा पूरा किया। गंभीर का साथ दे रहे जैक्स कालिस [नाबाद 30] ने भी अपनी भूमिका को बखूबी अंजाम दिया और 17वें ओवर में भार्गव भट की लगातार गेंदों पर चौका फिर छक्का लगाकर अपनी टीम को जीत दिला दी।

इससे पूर्व टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लेते हुए कप्तान गिलक्रिस्ट ने पाल वाल्थी [8] के साथ पारी का आगाज किया। लेकिन तीसरे ओवर में अंतिम गेंद पर वाल्थी बालाजी की गेंद पर विकेटकीपर मनविंदर बिसला को कैच थमा बैठे। आउट आफ फार्म वाल्थी अब तक चार मैच में केवल 22 रन बना सके हैं। हालांकि आज गिलक्रिस्ट तीन चौका लगाकर बेहतरीन बल्लेबाज कर रहे थे लेकिन छठवें ओवर की पांचवीं गेंद पर एक रन चुराने के प्रयास में उनके पांव की मांसपेशियों में खिंचाव के कारण मैदान छोड़ना पड़ा। जिस समय गिलक्रिस्ट रिटायर्ड हर्ट हुए उन्होंने 28 रन बनाए थे। शान मार्श का साथ देने मंदीप सिंह आए लेकिन मंदीप 10 गेंदों में छह रन बनाकर बालाजी की गेंद पर रजत भाटिया के हाथों लपके गए। नए बल्लेबाज डेविड हसी भी मार्श के साथ पारी के रन गति को तेज करने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं रहे और टीम 13 ओवर में महज 83 रन ही बना सकी थी। धीमी बल्लेबाजी से बल्लेबाजों पर दबाव लगातार बढ़ता जा रहा था कि इसी बीच 14वें ओवर में बे्रट ली की गेंद पर मार्श विवादास्पद फैसले का शिकार हुए। जबकि टीवी रिप्ले में साफ दिख रहा था कि गेंद न तो बैट से टकराई न ही विकेटकीपर बिसला ने साफ कैच लपका। हालांकि टीम की मालकिन प्रीति जिंटा ने इसका विरोध जताया पर मार्श [33] पवेलियन लौट चुके थे। पंजाब को चौथा झटका डेविड हसी [10] के रूप में लगा जब एक रन चुराने के प्रयास में रन आउट हो गए। रजत भाटिया ने दमित्री मास्करेंहेंस [9] को तिवारी के हाथों सीमा रेखा के पास लपकवाया। रिटायर्ड हर्ट होकर पवेलियन लौटने वाले गिलक्रिस्ट वापस मैदान आए लेकिन अगले ओवर में सुनील नारायन ने पारस डोगरा को मात्र छह रन के निजी स्कोर पर कालिस के हाथों कैच आउट कराकर पंजाब का छठा विकेट गिराया। नारायन ने अंतिम गेंद पर पीयूष चावला [9] को आउट कर दूसरी सफलता हासिल की।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर