मुंबई। लक्ष्मण, द्रविड़ और सचिन जैसे दिग्गजों को खराब फार्म के चलते बाहर करने की अपील करने वाले आलोचकों को वेंगसरकर ने जवाब दिया है। दिलीप वेंगसरकर के मुताबिक ऐसे फैसले सिर्फ उम्र के आधार पर नहीं लिए जाने चाहिए।

वेंगसरकर ने कहा, यह खिलाडि़यों की फार्म और फिटनेस पर निर्भर करता है। क्रिकेट में उम्र कोई मानदंड नहीं है बल्कि खराब प्रदर्शन करने वालों को बाहर किया जाना चाहिए। पूर्व मुख्य चयनकर्ता वेंगसरकर के मुताबिक आस्ट्रेलिया में भारतीय टीम के हश्र से वह भी कम हैरान नहीं हैं। वेंगसरकर ने कहा, आस्ट्रेलिया में जो कुछ हुआ, उससे मैं हैरान नहीं हूं। भारत की गेंदबाजी, बल्लेबाजी और उन हालात में कुछ भी अपेक्षा के अनुरूप नहीं रहा। उन्होंने इसके लिए चयनकर्ताओं को दोषी ठहराते हुए कहा कि उन्होंने अच्छी बेंच स्ट्रेंथ तैयार नहीं की। वेंगसरकर का मानना है कि इस चयन समिति ने किसी को तैयार नहीं किया। अजिंक्य रहाणे एक महीने तक आस्ट्रेलिया में रहा लेकिन एक भी मैच नहीं खेला। इसका क्या कारण है। रोहित शर्मा ने एक भी मैच नहीं खेला और फिर उनसे पहले ही मैच में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद कैसे की जा सकती है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर