विशाखापत्तन। डेक्कन चार्जर्स को मंगलवार को पांच विकेट की शिकस्त के बाद मुंबई इंडियंस के कप्तान हरभजन सिंह ने कहा कि उन्हें लक्ष्य हासिल करने का विश्वास था।

हरभजन सिंह ने युवा बल्लेबाज रोहित शर्मा की उस शानदार पारी की प्रशंसा की है, जिसकी बदौलत उनकी टीम ने सोमवार को इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पांचवें संस्करण के लीग मुकाबले में डेक्कन चार्जर्स के खिलाफ जीत हासिल की।

हरभजन ने कहा कि हम डेक्कन को 150 रन से कम के स्कोर पर रोकना चाहते थे और हम ऐसा करने में सफल रहे। यह मैदान थोड़ा छोटा है, इसलिए हमें पता था कि अगर प्रत्येक ओवर में नौ रन की गति से भी रन बनाने पड़े तो गेंदबाजों को दबाव में डालकर लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। हमें पूरा यकीन था। हालांकि हमें यह लक्ष्य कुछ पहले हासिल कर लेना चाहिए था।

मैच में डेक्कन की पारी के दौरान संगकारा के आउट होने के विवाद पर हरभजन ने कहा कि वह सिर्फ यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि सही फैसला किया जाए। उन्होंने कहा कि मुझे दिखा था कि गेंद के टकराने से बेल्स गिरे हैं। अगर अंपायर और विकेटकीपर सुनिश्चित नहीं थे तो अंपायर को पहले ही तीसरे अंपायर की मदद लेकर सही फैसला करना चाहिए था।

हरभजन ने कहा कि रोहित की पारी अतुलनीय है। उन्होंने शांत और संयमित रहते हुए अपनी टीम को यादगार जीत दिलाई। वह अब एक परिपक्व खिलाड़ी बन चुके हैं। रोहित ने कहा कि वह रोमांच से भरे इस मैच में खुद को शांत बनाए रखना चाहते थे। रोहित ने कहा कि मैं शांत रहकर खेलना चाहता था। मैं भारत के लिए भी ऐसे ही खेलता रहा हूं। अंतिम ओवर में 19 रनों की जरूरत थी और मैं जानता था कि संयम के साथ विकेट पर रहा जाए तो ये रन बन सकते हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर