अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

संजय पोखरियाल   |  Publish Date:Fri, 03 Nov 2017 11:15 AM (IST)
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

ऐसी मान्यता है कि अगर भगवान की इच्छा अनुसार उनको प्रसाद चढ़ाया जाए तो वह बहुत जल्दी प्रसन्न होते हैं और भक्तों की मनोकामना को जल्दी पूरा करते हैं। आम तौर पर अधिकतर मंदिरों में देवी-देवताओं पर फूल-माला, नारियल या फिर दान के रूप रूपए-आभूषण चढ़ाए जाते है। भारत में हर भगवान को अलग-अलग प्रसाद चढ़ाया जाता है। इसलिए हम आज आपको ये बताने जा रहे हैं कि कौन से मंदिर में प्रसाद के तौर पर क्या-क्या चढ़ाया जाता है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

गोगामेंधी मंदिर, राजस्थान

प्याज और मसूर की दाल यहां पर प्रसाद के रूप में बांटी जाती है। जब देश में प्याज महंगे हो रहे थे, तो भी यहां प्रसाद की कमी नहीं हुई। कई लोगों का मानना है लोग यहां से प्रसाद के रूप में मिले प्याज को घर में सब्जी बनाने के लिए इस्तेमाल करते थे।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

चाइनीज काली मंदिर, कोलकत्ता

अगर आपको घर में कोई नूडल्स खाने के लिए मना करें तो इस मंदिर में आकर आप यहां का प्रसाद खा लीजिए। कहा जाता है कि यहां पर हर दिन नूडल्स को अलग-अलग तरह से पकाया जाता है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

चेंबुर बाबा भैरो नाथ

मगर यहां चेंबुर स्थित एक छोटे मंदिर में विराजमान बाबा भैरो नाथ की बात अलग है। पूरे साल उनके भक्‍त कार्तिक एकादशी का इंतजार करते हैं, ताकि उन्‍हें व्हिस्‍की, रम, वोदका जैसे तमाम प्रकार की शराब की बोतलें चढ़ा सकें। करीब चार दशक पहले एक श्‍मशान घाट के एक कोने में निर्मित इस मंदिर में कार्तिक एकादशी के मौके पर भक्‍तों की काफी भीड़ देखने को मिली। वहीं उनके द्वारा चढ़ाई गई शराब 'प्रसाद' के रूप में बांटी गई।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

श्री धांडेयुथपनिस्वामी मंदिर

यहां भगवान को प्रसाद के रूप जैम चढ़ाया जाता है जो पांच तरह के फलों को मिलाकर बनाया जाता है। यहां का प्रसाद बच्चों को बहुत पंसद आता है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

श्री कृष्ण मंदिर, अम्बालापुझा

यहां का प्रसाद पायसम चावल, दूध और चीनी से बना होता है। यहां का प्रसाद पारंपरिक रसोइए बनाते हैं। यहां के प्रसाद का स्वाद अलग ही रहता है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

माता वैष्णो देवी, कटरा

यहां जो प्रसाद चढ़ाया जाता है उसमें चावल, नारियल, चीनी, सूखे सेब आदि शामिल होते हैं। इन सब को मिला के एक पैकट में डाला जाता है, आप इन पैकटों को मंदिर के पास स्थित दुकानों से खरीद सकते है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

कामख्या देवी मंदिर, गुवाहाटी

यहां ऐसे तो प्रसाद के रूप में आप कुछ भी मीठा चढ़ा सकते हैं पर मंदिर की तरफ से एक बहुत ही खास प्रसाद मिलता है और वो है रक्त से भीगा कपड़े का टुकड़ा, जो एक अनूठा और बहुत पवित्र प्रसाद माना जाता है। इसे प्राप्त करने के लिए लोग मंदिर परिसर में आते हैं।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

अलागर कोविल, मदुरई

यहां भगवान को अनाज और स्वादिष्ट डोसा चढ़ाया जाता है। भगवान को भोग लगाने के बाद प्रसाद को भक्तों में बांट दिया जाता है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

करणी माता मंदिर, बीकानेर

यहां प्रसाद के रूप में दूध चढ़ाया जाता है। लेकिन भगवान से पहले यहां चूहों को दूध पिलाया जाता है और तब उसे प्रसाद के रूप में ग्रहण किया जाता है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

जगन्नाथ मंदिर, पुरी

अगर आपने एक पहर खाना नहीं खाया है, तो यहां का प्रसाद एक बार जरूर खा लीजिए। सारी भूख मिटकर आत्मा तृप्त हो जाएगी। 56 भोग यानि 56 व्यंजन वाला प्रसाद दुनिया भर में मशहूर है।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

गणपतिपुले मंदिर, महाराष्ट्र

बूंदी, पापड़ और खिचड़ी यहां प्रसाद के रूप में बांटे जाते हैं। कहा जाता है इस मंदिर जितनी स्वादिष्ट खिचड़ी और कहीं नहीं मिलती।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

श्री वेंकटेश्वर मंदिर, तिरुपति

यहां लड्डू चढ़ाए जाते है जो काफी प्रसिद्ध है। तिरुपति में लड्डू चढ़ाने की परंपरा बहुत पुरानी है। यहां के लड्डू में बेसन, चीनी, आटा, काजू, इलायची, घी और किशमिश ये सब मिले होते हैं। इसलिए यहां के लड्डू में एक अलग ही स्वाद होता है जो कहीं नहीं मिलता।

तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद
तस्वीरों के जरिए जानें.... इन मंदिरों के देवी-देवताओं को चढ़ावे में क्या है पसंद

मुरूगन स्वामी मंदिर, तमिलनाडु

फ्रूट जैम के दीवानों के लिए यहां का प्रसाद सबसे बेस्ट है। यहां आपको हर दिन अलग-अलग तरह के फलों का जैम मिलता है।

DISCLAIMER: JPL and its affiliates shall have no liability for any views, thoughts and comments expressed on this article.

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK