• Book Ad
  • Epaper
  • Hindi News

नैचुरल ग्लो बढ़ाने और बनाए रखने के लिए स्किन केयर रूटीन में शामिल करें ये जरूरी विटामिन्स

6 photos    |  Published Tue, 13 Oct 2020 12:48 PM (IST)
1/ 6नैचुरल ग्लो के लिए विटामिन C
नैचुरल ग्लो के लिए विटामिन C

विटामिन C एक ऐसा विटामिन है, जो बहुत आसानी से उपलब्ध होता है, इसके बावजूद लोग इसका सेवन कम करते हैं। कई सारे स्किन केयर प्रोडक्ट्स में विटामिन सी का प्रयोग किया जाता है। इसका कारण यह है कि विटामिन सी आपकी त्वचा से एजिंग के लक्षणों को कम करता है और त्वचा के नैचुरल ग्लो को बढ़ाता है। ये त्वचा के नैचुरल कोलाजन को बढ़ाने में भी मदद करता है। इसलिए इसका प्रयोग सन स्क्रीन में विशेष तौर पर किया जाता है। आप ऐसे स्किन केयर प्रोडक्ट का इस्तेमाल तो करें ही जिसमें विटामिन सी हो, साथ ही अपनी डाइट के माध्यम से भी विटामिन सी लेते रहें। विटामिन सी मुख्य रूप से सभी खट्टे फलों में होता है।

2/ 6यूवी किरणों से बचाव के लिए विटामिन ई
यूवी किरणों से बचाव के लिए विटामिन ई

विटामिन ई का इस्तेमाल भी ढेर सारे स्किन केयर प्रोडक्ट्स में किया जाता है। इसका कारण यह है कि विटामिन ई नए स्किन सेल्स और टिशूज के निर्माण में बड़ी भूमिका निभाते हैं और सूरज की अल्ट्रा वायलेट किरणों (UV Rays) से होने वाले नुकसान से बचने के लिए भी इसकी बड़ी भूमिका होती है। इसलिए ऐसे क्रीम्स और प्रोडक्ट्स जो डार्क सर्कल्स, झुर्रियां (Wrinkles) और डार्क स्पॉट्स खत्म करती हैं, उनमें विटामिन ई जरूर होता है। विटामिन ई आपको खाने की कई चीजों से भी मिल सकता है जैसे- बादाम, अखरोट, अलसी, सूरजमुखी के बीज आदि।

3/ 6विटामिन डी स्किन इंफेक्शन से बचाव के लिए
विटामिन डी स्किन इंफेक्शन से बचाव के लिए

त्वचा को इंफेक्शन से बचाने के लिए विटामिन डी महत्वपूर्ण होता है। विटामिन डी की कमी होने से भी कई बार त्वचा की चमक पर असर पड़ता है। इसलिए चमकदार स्किन की ख्वाहिश रखने वाले लोगों को विटामिन डी की कमी पूरी करते रहना चाहिए। विटामिन डी शरीर नैचुरल रूप से बनाता है और इसके लिए आपको सिर्फ थोड़ी सी धूप की जरूरत पड़ती है। लेकिन इंसानों के द्वारा गया विटामिन डी का एक प्रकार कैल्सिट्रियॉल (Calcitriol) है, जिसका प्रयोग स्किन केयर प्रोडक्ट्स में किया जाता है। ये स्किन इंफेक्शन, सोरायसिस, फंगल इंफेक्शन आदि खत्म करने के लिए जाना जाता है। आप नैचुरल रूप से विटामिन डी की कमी पूरी करना चाहते हैं, तो हर रोज कम से कम 10 मिनट धूप में बैठें।

4/ 6स्किन रिपेयर के लिए हायलूरॉनिक एसिड
स्किन रिपेयर के लिए हायलूरॉनिक एसिड

आप जब भी अपना स्किन केयर प्रोडक्ट खरीदें तो यह जरूर देख लें कि उसमें हायलूरॉनिक एसिड ( Hyaluronic Acid) हो। हायलूरॉनिक एसिड आपकी त्वचा में कोलाजन के प्रोडक्शन को बढ़ाता है, जिससे आपकी त्वचा ज्यादा यंग, ज्यादा खूबसूरत और ग्लोइंग दिखती है। हायलूरॉनिक एसिड की वजन से डैमेज स्किन सेल्स और टिशूज की रिपेयरिंग होती है, इसलिए नाइट क्रीम में तो इसका होना बहुत जरूरी है। हायलूरॉनिक एसिड आपकी त्वचा के लचीलेपन को बढ़ाता है और स्किन को यंग रखता है।

5/ 6नैचुरल ग्लो बनाए रखने में कुछ विटामिन्स और एसिड्स की है बड़ी भूमिका
नैचुरल ग्लो बनाए रखने में कुछ विटामिन्स और एसिड्स की है बड़ी भूमिका

जैसे-जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती जाती है, उसकी त्वचा की कोमलता और चमक खत्म होती जाती है और एक समय के बाद त्वचा अपना नैचुरल ग्लो खो देती है। इसके कारण व्यक्ति की उम्र ज्यादा लगती है। त्वचा का नैचुरल ग्लो बनाए रखने में कुछ विटामिन्स और एसिड्स की बड़ी भूमिका होती है। अच्छे स्किन केयर प्रोडक्ट्स में इन विटामिन्स और एसिड्स का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि त्वचा का नैचुरल ग्लो बना रहे।

6/ 6नैचुरल ग्लो बनाए रखने में कुछ विटामिन्स और एसिड्स की है बड़ी भूमिका
नैचुरल ग्लो बनाए रखने में कुछ विटामिन्स और एसिड्स की है बड़ी भूमिका

जैसे-जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती जाती है, उसकी त्वचा की कोमलता और चमक खत्म होती जाती है और एक समय के बाद त्वचा अपना नैचुरल ग्लो खो देती है। इसके कारण व्यक्ति की उम्र ज्यादा लगती है। त्वचा का नैचुरल ग्लो बनाए रखने में कुछ विटामिन्स और एसिड्स की बड़ी भूमिका होती है। अच्छे स्किन केयर प्रोडक्ट्स में इन विटामिन्स और एसिड्स का इस्तेमाल किया जाता है, ताकि त्वचा का नैचुरल ग्लो बना रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept