Menu
  • Epaper
  • Hindi News
  • Subscribe
अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close

PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़

Jagran News Network   |  Publish Date:Sat, 03 Dec 2016 02:12 PM (IST)
PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़
PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़

उत्‍तराखंड के लाल ने सात समंदर पार ना केवल उत्‍तराखंड का नाम रोशन किया, बल्कि भारत सिर भी गर्व से ऊंचा कर दिया। हम बात कर रहे हैं 76वेस्ट एनर्जी प्रतियोगिता के विजेता वैज्ञानिक डॉ. शैलेश उप्रेती की। उन्‍होंने एक ऐसी बैटरी बनाई है, जो 20 से 22 घंटे का बैकअप देती है। उन्‍हें पुरस्‍कार के रूप में 3.4 करोड़ रुपये दिए हैं।

PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़
PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़

डॉ. शैलेश उप्रेती का जन्‍म 25 सितंबर 1978 को अल्‍मोड़ा जिले के तल्‍ला ज्‍लूया (मनान) में पिता रेवाधर उप्रेती और माता चंद्रकला उप्रेती के घर हुआ। शैलेश बचपन से ही होनहार थे। उन्‍होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा प्राइमरी स्‍कूल मनान से की।

PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़
PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़

शैलेश ने वर्ष 1997 में कुमाऊं यूनिवर्सिटी के अल्‍मोड़ा कैंपस से बीएससी की। इस दौरान उन्‍होंने सीडीएस की परीक्षा भी उत्‍तीर्ण की। इसके बाद उन्‍होंने वर्ष 2000 में अल्‍मोड़ा कैंपस से ही रसायन विज्ञान से एमएससी की। उन्‍होंने एमएससी में गोल्‍ड मैडल जीता।

PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़
PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़

न्यूयॉर्क राज्य ऊर्जा अनुसंधान और विकास प्राधिकरण की ओर से न्यूयार्क की अर्थव्यवस्था और पर्यावरण सुधार के विकल्प पर कार्य करने के मिशन को बढ़ावा के लिए दुनियाभर की कंपनियों में प्रतिस्पर्धा कराई गई थी। जनवरी में शुरू हुई प्रतियोगिता 8 चरणों में हुई और 6 अक्तूबर को पुरस्कार की घोषणा हुई थी। 30 नवंबर को न्यूयॉर्क में लेफ्टिनेंट गवर्नर कैथलीन होचूल ने डॉ. शैलेश को यह पुरस्कार दिया। इस प्रतियोगिता में विश्व की 175 कंपनियों ने हिस्सा लिया था।

PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़
PICS: इस भारतीय ने अमेरिका में जीते 3.4 करोड़

डॉ शैलेश को अपनी संस्‍कृति से भी विशेष लगाव रहा है। डॉ शैलेश के छोटे भाई अशोक उप्रेती बताते हैं कि उन्‍हें गाने का शौक रहा है। उनके पहाड़ी गाने की दो कैसेट भी रिलीज हो चुकी है। इतना ही नहीं वह पहाड़ी वाद्य यंत्र भी बजाते हैं। हुड़का (पहाड़ी वाद्य यंत्र) बजाने में उन्‍हें महारथ हासिल है।

Loading...
Loading...
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK