नई दिल्ली, जेएनएन। आकाश मलिक खेलों की तीरंदाजी स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाले पहले भारतीय बन गए और उनके पदक के साथ ही भारत ने इन खेलों से अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ विदाई ली। किसान के पुत्र 15 वर्षीय आकाश को फाइनल में अमेरिका के ट्रेंटन कोलेस ने 6-0 से हराया। भारत ने इन खेलों में तीन स्वर्ण, नौ रजत और एक कांस्य सहित कुल 13 पदक जीते। 

वह तालिका में 14वें स्थान पर रहा। हरियाणा के आकाश फाइनल में लय कायम नहीं रख सके। कोलेस ने सिर्फ 10 और नौ में स्कोर करके आसानी से जीत दर्ज की। तीन सेटों के मुकाबले में दोनों ने चार बार परफेक्ट 10 स्कोर किया, लेकिन आकाश ने पहले और तीसरे सेट में दो बार सिर्फ छह स्कोर किया। अतुल वर्मा ने 2014 में नानजिंग में हुए खेलों में कांस्य जीता था। 

आकाश ने छह साल पहले तीरंदाजी शुरू की थी जब शारीरिक ट्रेनर और तीरंदाजी कोच मनजीत मलिक ने उसे ट्रायल के दौरान चुना। आकाश के पिता नरेंदर मलिक गेहूं और कपास की खेती करते हैं, लेकिन वह कभी नहीं चाहते थे कि उनका बेटा किसान बने। 

आकाश ने पिछले साल क्वालीफाइंग टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीता था। उसने एशिया कप पहले चरण में स्वर्ण, दूसरे में दो कांस्य और साउथ एशियन चैंपियनशिप में एक रजत और एक कांस्य पदक जीता था।

Posted By: Lakshya Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस