जकार्ता, एएफपी। अनुभवी पहलवान सुशील कुमार को एशियन गेम्स से पहले एक टूर्नामेंट में हार का सामना करना पड़ा, जिससे उनकी फॉर्म को लेकर चिंताएं बढ़ गई हैं, लेकिन उन्होंने दमखम बाकी होने का दावा करते हुए कहा कि वह यहां कुछ सबित करने नहीं आए हैं।

ओलंपिक में भारत की ओर से व्यक्तिगत स्पर्धा में दो पदक जीतने वाले एकमात्र खिलाड़ी सुशील पिछले महीने जॉर्जिया में हुए तिब्लिसी ग्रां प्री में हार गए थे। चार साल में यह पहला मौका था जब सुशील पहली बाउट में ही हार कर बाहर हो गए। वह एशियन गेम्स की तैयारी के लिए जॉर्जिया गए थे। सुशील ने यहां जब अभ्यास सत्र के बाद हार के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बेपरवाह होकर कहा, ‘तो क्या हुआ। खिलाड़ी कभी जीतता है, तो कभी हारता है। असली खिलाड़ी वही है, जो हारने के बाद कड़ी मेहनत करके वापसी करता है। असली खिलाड़ी वह है, जो जीतने के बाद भी मैट नहीं छोड़ता है। मैं भी वही करना चाहता हूं। मैंने एशियन गेम्स के लिए अच्छी तैयारी की है, लेकिन यहां कुछ साबित करने नहीं आया हूं। खुद को साबित करना खेल भावना के विपरीत है।

सुशील एशियन गेम्स में 74 किग्रा भारवर्ग में हिस्सा लेंगे, लेकिन हाल में भारतीय कुश्ती महासंघ के अधिकारियों ने कहा था कि सुशील का फॉर्म में नहीं होना उनके लिए चिंता का विषय है। उन्होंने वादा किया कि आगे से किसी खिलाड़ी को ट्रायल से छूट नहीं दी जाएगी। उन्होंने सुशील के विकल्प पर दो पहलवानों को स्टैंडबाई पर भी रखा है। अगर सुशील आखिरी समय में गेम्स से हटते हैं, तो किसी और भेजा जा सके।

सुशील से जब इसके बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘यह होता रहता है। लोग मुझसे प्यार करते हैं और मेरे अच्छे प्रदर्शन की कामना करते हैं। लोग कभी-कभी प्रतिक्रिया भी देते हैं। मैंने अपने जीवन में अच्छा प्रदर्शन किया है क्योंकि मैं एक सकारात्मक व्यक्ति हूं।’

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें   

Posted By: Pradeep Sehgal