नई दिल्ली, जेएनएन। विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप (World Boxing Championships) में भारत की युवा मुक्केबाज मंजू रानी (Manju Rani) ने फाइनल में जगह पक्की कर ली है। पहली बार विश्व चैंपियनशिप में खेलने उतरी मंजू ने सेमीफाइनल में पूर्व विश्व चैंपियन थाईलैंड की मुक्केबाज Chuthamat Raksat को 4-1 से हराया।

मंजू पहली बार इस बड़े मंच पर अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाने उतरी हैं। 48 किग्रा भारवर्ग में खेलने उतरी इस भारतीय मुक्केबाज ने अपने से उंचीं रैंकिंग और अनुभवी मुक्केबाज के खिलाफ शानदार खेल दिखाया। मुकाबले में 4-1 से मैच जीत हासिल कर मंजू ने फाइनल में जगह बनाई और भारत के लिए एक अहम पदक पक्का किया।

इससे पहले छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम को आज सुबह सेमीफाइनल के अपने मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा था। मैरीकॉम को सेमीफाइनल में तुर्की की मुक्केबाज Busenaz Cakiroglu के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा। तुर्की की मुक्केबाज ने मैरीकॉम के खिलाफ 4-1 से जीत हासिल कर फाइनल में जगह बनाई।

क्वार्टर फाइनल में किम ह्यांग को दी थी मात

मंजू रानी (Manju Rani) ने क्वार्टर फाइनल मुकाबले में नोर्थ कोरिया की किम ह्यांग मी को हराया था। इस जीत के साथ ही मंजू ने भारत के लिए कम से कम एक कांस्य पदक पक्का कर लिया था। क्वार्टर फाइनल में अपने से कहीं ज्यादा अनुभवी मुक्केबाज किम ह्यांग के खिलाफ मंजू ने 4-1 से जीत हासिल कर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी। 

मैरीकॉम को सेमीफाइनल में मिली हार

इससे पहले विश्व चैंपियनशिप के एक अन्य सेमीफाइनल मुकाबले में भारत की स्टार मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम को हार का सामना करना पड़ा। छह बार की विश्व चैंपियन मैरीकॉम को 51 किग्रा भारवर्ग में तुर्की की मुक्केबाज Busenaz Cakiroglu ने 4-1 से हराकर बाहर किया। हालांकि मैरी ने इस हार के बाद रैफरी के फैसले पर नाराजगी जाहिर की थी लेकिन बाद में उन्होंने इसे स्वीकार कर लिया। 

 
 

 

Posted By: Viplove Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप