सुवा, एएफपी। कोरोना वायरस एक ऐसी महामारी से किसी सतह या फिर किसी संक्रमित व्यक्ति से भी छूने से फैल सकती है। यही कारण है कि जो भी शख्स इस संक्रमण का संदिग्ध नजर आता है, उसे आइसोलेशन की प्रक्रिया से गुजरना होता है, लेकिन दो खिलाड़ियों ने आइसोलेशन का नियम तोड़ दिया है, जिसकी वजह से उनको पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यहां तक कि इन खिलाड़ियों पर पीएम ने भी बड़ा आरोप लगाया है।

दरअसल, फिजी के दो रग्बी खिलाड़ियों को आइसोलेशन नियम नहीं मानने के कारण गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों खिलाड़ी देश में प्रसिद्ध नहीं हैं, लेकिन फिजी रग्बी यूनियन ने बताया कि वे दोनों पेशेवर खिलाड़ी हैं। फिजी के प्रधानमंत्री फ्रैंक बैइनीमारामा ने दोनों खिलाड़ियों को देश की जनता की जान खतरे में डालने का आरोप लगाया है। इनमें से एक खिलाड़ी सिंगापुर से लौटा था।

फिजी की बात करें तो इस छोटे से देश की संख्या 9 लाख है। गनीमत है कि सिर्फ 12 लोग ही कोरोना वायरस के शिकार हुए हैं। वहीं, संदिग्ध लोगों को इस देश में आइसोलेशन प्रक्रिया से गुजरना पड़ रहा है। ऐसे में जब दो रग्बी खिलाड़ियों ने सरकार के निर्देशों का पालन नहीं किया तो उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जा रही है और दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। फिजी में अभी तक एक भी शख्स इस वायरस से उबरा नहीं है।

कोरोना वायरस की महामारी से अब तक दुनियाभर में 65 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 12 लाख से ज्यादा लोग अभी भी इस वायरस से संक्रमित है। चीन का वुहान कोरोना वायरस का केंद्र है, लेकिन सबसे ज्यादा लोगों का जान इस वायरस से इटली, स्पेन और अमेरिका में हुई है। चीन में जहां 3329 लोगों की जान इस वायरस ने निगल ली है, जबकि इटली में 15 हजार से ज्यादा लोग इसका शिकार बने हैं।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस