नई दिल्ली,जेएनएन : एल सरिता देवी और एमसी मैरी कॉम ने पोलैंड के गिलवाइस में चल रही 13वीं अंतरराष्ट्रीय सिलेसियन मुक्केबाजी चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में जगह बनाकर भारत के लिए पदक पक्के कर दिए। पूर्व विश्व चैंपियन और एशियन गेम्स की कांस्य पदक विजेता सरिता ने 60 किग्रा वर्ग के पहले दौर में कजाखस्तान की ऐजान खोजाबेकोवा को हराने के बाद चेक गणराज्य की एलेना चेकी को 5-0 से शिकस्त दी। वह सेमीफाइनल में कजाखस्तान की ही करीना इब्रागिमोवा से भिड़ेंगी। 

पांच बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता मैरी कॉम ने अब तक रिंग में पैर रखे बिना ही 48 किग्रा लाइट फ्लाइवेट वर्ग में खिलाडि़यों के छोटे ड्रॉ के कारण सेमीफाइनल में जगह बनाई। भारत की पहली और एशियन गेम्स की एकमात्र स्वर्ण पदक विजेता मुक्केबाज मैरी कॉम फिटनेस मुद्दों के कारण हाल में संपन्न एशियन गेम्स से बाहर रहने के बाद रिंग में वापसी कर रही हैं।

अन्य भारतीयों में रितु ग्रेवाल ने रूस की स्वेतलाना रोजा के खिलाफ 4-1 की जीत से 51 किग्रा वर्ग के सेमीफाइनल में जगह बनाई, जबकि लवलीना बोरगोहेन (69 किग्रा) चेक गणराज्य की मार्टिना श्मोरानजोवा को हराकर अंतिम चार में पहुंच गईं। सीमा पूनिया (81 किग्रा से अधिक), प्विलाओ बासुमैत्री (64 किग्रा) और शशि चोपड़ा हालांकि अपने-अपने मुकाबले हारकर पदक की दौड़ से बाहर हो गईं।

सीमा को कजाखस्तान की लजात कुंगेबायेवा ने 5-0 से हराया, जबकि बासुमैत्री को पोलैंड की नतालिया बारबुसिंसका ने इसी अंतर से हराया। शशि को भी इंग्लैंड की एंजिला चैपमैन के खिलाफ इसी अंतर से हार का सामना करना पड़ा। 

Posted By: Lakshya Sharma