मेलबर्न, एएफपी। स्पेन के स्टार टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने अपना विजयी अभियान जारी रखते हुए बुधवार को अर्जेटीना के लियोनार्डो मायेर को सीधे सेटों में हराकर ऑस्ट्रेलियन ओपन के तीसरे दौर में जगह बनाई। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी नडाल ने मैच में सिर्फ एक बार अपनी सर्विस गंवाई और विश्व के 52वें नंबर के खिलाड़ी मायेर को दो घंटे और 38 मिनट तक चले पुरुष सिंगल्स के मुकाबले में 6-3, 6-4, 7-6 से शिकस्त दी।

पिछले साल यहां फाइनल में रोजर फेडरर के हाथों शिकस्त झेलने वाले 31 वर्षीय नडाल अगले दौर में बोसनिया हर्जेगोविना के 28वें वरीय दामिर जुमहुर से भिड़ेंगे, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के जॉन मिलिमैन को 7-5, 3-6, 6-4, 6-1 से हराया। 16 बार के ग्रैंडस्लैम चैंपियन नडाल ने मैच के दौरान सिर्फ 10 सहज गलतियां की, जबकि 40 विनर लगाए। मायेर ने अच्छी चुनौती पेश की और उस समय नडाल की सर्विस तोड़ी जब वह मैच जीतने के लिए सर्विस कर रहे थे। इससे तीसरा सेट टाईब्रेकर में चला गया, जिसमें नडाल ने जीत हासिल की।

पांच सेट तक चला सोंगा का मैच 

फ्रांस के 32 वर्षीय जो-विलफ्रेड सोंगा ने भी तीसरे दौर में जगह पक्की की। हालांकि, विश्व के 15वें नंबर के खिलाड़ी सोंगा को पुरुष सिंगल्स के दूसरे दौर के पांच सेट तक चले मुकाबले में कनाडा के 18 वर्षीय खिलाड़ी डेनिस शापोवालोव को 3-6, 6-3, 1-6, 7-6, 7-5 से हराने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। यह मुकाबला तीन घंटे 37 मिनट तक चला। अब सोंगा का सामना निक किर्गियोस से होगा, जिन्होंने विक्टर ट्राइओकी को दूसरे दौर में 7-5, 6-4, 7-6 से मात दी। सोंगा 2008 का फाइनल मुकाबला सर्बिया के नोवाक जोकोविक से हार गए थे।

'मेरे लिए यह महत्वपूर्ण जीत हैं। लियोनार्डो मजबूत प्रतिद्वंद्वी हैं। वह ऐसे खिलाड़ी हैं जिनमें काफी क्षमता है, वह गेंद पर कड़ा प्रहार करते हैं, लेकिन मैं उनके खिलाफ जीत से खुश हूं।'

- राफेल नडाल

'मैंने कोशिश की और मैं बहुत खुश हूं। मैंने डेनिस के खिलाफ एक मजबूत मुकाबला खेला। इन युवा खिलाडि़यों के खिलाफ मैच खेलना आसान नहीं है।'

- जो-विलफ्रेड सोंगा

अन्य परिणाम

 छठे वरीय क्रोएशिया के मारिन सिलिच पुर्तगाल के जोओ सोसा को दूसरे दौर में 6-1, 7-5, 6-2 से हराकर आगे बढ़े। अगले मैच में वह अमेरिका के रियान हैरिस के खिलाफ उतरेंगे, जिन्होंने उरुग्वे के पाब्लो क्यूवास को 6-4, 7-6, 6-4 से मात दी। काइल एडमंड ने डेनिस इस्तोमिन को 6-2, 6-2, 6-4 से हराया। विश्व के 10वें नंबर के खिलाड़ी स्पेन के पाब्लो कारेनो बस्टा भी तीसरे दौर में पहुंच गए। उनके प्रतिद्वंद्वी फ्रांस के जाइल्स सिमोन को चोट के कारण कोर्ट छोड़ना पड़ा। उस समय पाब्लो 6-2, 3-0 से आगे थे।

40 वर्षो में सबसे उम्रदराज कार्लोविच 

क्रोएशिया के इवो कार्लोविच 40 वर्षो में ऑस्ट्रेलियन ओपन के तीसरे दौर में जगह बनाने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन गए। वह अगले महीने 39 वर्ष के हो जाएंगे। उन्होंने पुरुष सिंगल्स में चार घंटे 33 मिनट तक चले मुकाबले में जापान के युइची सुगिता को 7-6, 6-7, 7-5, 4-6, 12-10 से हराया। यह वर्तमान टूर्नामेंट का सबसे लंबा मैच रहा। कार्लोविच जब तीसरे दौर में एंड्रियास सेप्पी से भिड़ेंगे तो वह केन रोजवेल के बाद तीसरे दौर में खेलने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी बन जाएंगे। रोजवेल ने 1978 में 44 साल की उम्र में तीसरे दौर का मुकाबला खेला था।

उलटफेर की शिकार होने से बचीं वोज्नियाकी, स्वितोलिना

खिताब की प्रबल दावेदार कैरोलिना वोज्नियाकी और एलिना स्वितोलिना ऑस्ट्रेलियन ओपन में उलटफेर की शिकार होने से बचते हुए अगले दौर में पहुंच गई। विश्व की दूसरे नंबर की खिलाड़ी वोज्नियाकी ने विश्व की 119वें स्थान की खिलाड़ी क्रोएशिया की जाना फेट को 3-6, 6-2, 7-5 से हराकर पहली बार इस खिताब को जीतने की अपनी उम्मीदों को बरकरार रखा।

चौथी वरीयता प्राप्त स्वितोलिना ने एक सेट हारने के बाद चेक गणराज्य की कैटरीना सिनियाकोवा को 4-6, 6-2, 6-1 से मात दी। अब उनका सामना 15 वर्षीय मार्ता कोस्तयुक से होगा, जो मार्टिना हिंगिस के बाद तीसरे दौर में पहुंचने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बन गई। हिंगिस ने यह कमाल 1996 में किया था जब वह क्वार्टर फाइनल तक पहुंची थीं। यूक्रेन की मार्ता ने वाइल्ड कार्डधारी स्थानीय खिलाड़ी ओलिविया रोगोवस्का को 6-3, 7-5 से हराया।

अमेरिकी स्टार खिलाड़ी वीनस विलियम्स को टूर्नामेंट से बाहर करने वाली स्विट्जरलैंड की बेलिंडा बेनकिक भी इस टूर्नामेंट से बाहर हो गई। वह महिला सिंगल्स का दूसरे दौर का मुकाबला क्वालीफायर लुकसिका कुमखुम से 1-6, 3-6 से गंवा बैठी। लुकसिका किसी भी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट में पहली बार तीसरे दौर में पहुंची है।

किर्गियोस पर जुर्माना

ऑस्ट्रेलिया के निक किर्गियोस को ऑस्ट्रेलियन ओपन के पहले दौर के मैच में दर्शकों के खिलाफ अभद्र भाषा के इस्तेमाल के लिए जुर्माना लगाया गया। किर्गियोस पर तीन हजार डॉलर (लगभग दो लाख रुपये) का जुर्माना लगा। उन्होंने पहले दौर के मैच में ब्राजील के रोजेरियो डि सिल्वा को 6-1, 6-2, 6-4 से हराया, लेकिन इसके बाद उनका बर्ताव खिलाडि़यों जैसा नहीं था। इसके अलावा क्रोएशिया के बोर्ना कोरिच पर पांच हजार डॉलर (करीब तीन लाख रुपये) जुर्माना लगाया गया, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के जॉन मिलमैन से हारने के बाद अपना रैकेट फेंक दिया था। इसी आरोप में अर्जेटीना के डिएगो श्वार्जमैन और रोमानिया के मारियस कोपिल पर भी दो-दो हजार डॉलर (एक लाख 27 हजार रुपये) का जुर्माना ठोका गया।

कजाकिस्तान के अलेक्जेंडर बुबलिक पर 1000 डॉलर (63 हजार रुपये) और अमेरिका के स्टीफन कोजलोव पर 1000 डॉलर (63 हजार रुपये) का जुर्माना लगाया गया। दोनों ने क्वालीफाइंग मुकाबलों के दौरान अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें  

Posted By: Ravindra Pratap Sing

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप