नई दिल्ली, जेएनएन। भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी और ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू को वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में हार सामना करना पड़ा। इसी वजह से लगातार दूसरे साल उन्हें सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। फाइनल में स्पेन की कैरोलिना मारिन ने सिंधू को 21-19, 21-10 से हराया। सिंधू ने खिताबी मुकाबले में काफी गलतियां की जिसका खामियाजा उन्हे गोल्ड मेडल गंवा कर भुगतना पड़ा।

वहीं वर्ल्ड नंबर 3 कैरोलिना मारिन ने लगातार तीसरी बार इस टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीता। इस मुकाबले में भी मारिन ने सिंधू को केवल 45 मिनट में शिकस्त दे दी। सिंधू का यह दूसरा सिल्वर मेडल है, इसके अलावा वह दो बाद कांस्य पदक भी जीत चुकी है। पहले गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिला।

एक वक्त स्कोर 3-3 था और फिर  सिंधू ने 15-11 की बढ़त भी बना ली थी लेकिन इसके बाद मारिन ने शानदार वापसी करते हुए स्कोर 18-18 पर ला खड़ा किया, इसके बाद सिंधू ने फिर एक अंक हासिल किया और स्कोर 19-20 कर दिया। इसके बाद मारिन ने अपनी लय नहीं छोड़ी और आखिर में 21-19 से गेम जीता लिया।

दूसरे गेम में तो मारिन ने सिंधू को वापसी का कोई मौका ही नहीं दिया और पूरे गेम में उन्हीं का दबदबा रहा। एक वक्त सिंधु 11-2 से पीछे थी। दूसरे गेम में तो सिंधू ने बहुत गलतियां की, जिसका फायदा मारिन ने उठाया। आखिर में उन्होंने 21-10 से ना केवल मैच जीता बल्कि खिताब भी अपने नाम कर लिया। मारिन ने तीसरी बार गोल्ड जीता, इससे पहले उन्होंने साल 2014 और 2015 में गोल्ड जीता था। सिंधू ने पिछले साल भी सिल्वर जीता था, वहीं साल 2013 और 2014 में कांस्य पदक भी जीते थे।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Lakshya Sharma