नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत के स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू और किदांबी श्रीकांत पिछले सत्र की लय को जारी रखते हुए नए साल में इंडिया ओपन का खिताब जीतकर अपने अभियान की विजयी शुरुआत करना चाहेंगे। कोरोना महामारी के कारण दो बार रद होने के बाद इस टूर्नामेंट का आयोजन हो रहा है। लेकिन इसका आयोजन देश में कोविड की तीसरी लहर की आशंका के बीच हो रहा है।

शीर्ष बैडमिंटन खिलाड़ी बी साई प्रणीत और युगल खिलाड़ी ध्रुव रावत टूर्नामेंट के लिए रवाना होने से पहले कोविड परीक्षण में पाजिटिव पाए जाने के कारण टूर्नामेंट से हट गए हैं। कुछ और भारतीय खिलाड़ियों को पहली बार में पाजिटिव आने के बाद अपने आरटी-पीसीआर परीक्षण की रिपोर्ट का इंतजार है और दोबारा पाजिटिव नतीजा आने पर उन्हें भी बाहर होना पड़ सकता है।

सिंधू और श्रीकांत के अलावा नए विश्व चैंपियन लोह कीन यु, तीन बार की चैंपियन मुहम्मद अहसन और हेंद्रा सेतियावान की इंडोनेशिया की पुरुष डबल्स जोड़ी, मलेशिया के शीर्ष खिलाड़ी ओंग यु सिन और तियो ई यी यहां इंदिरा गांधी स्टेडियम में दर्शकों की गैरमौजूदगी में होने वाले टूर्नामेंट में चुनौती पेश करेंगे। भारतीय खिलाड़ियों में सभी की नजरें दो बार की ओलिंपिक पदक विजेता सिंधू और विश्व चैंपियनशिप के रजत और कांस्य पदक विजेता क्रमश: श्रीकांत और लक्ष्य सेन पर टिकी होंगी।

सिंधू ने पिछले सत्र में लगातार अच्छा प्रदर्शन किया और कांस्य पदक के रूप में अपना दूसरा ओलिंपिक पदक जीता। उन्होंने विश्व टूर फाइनल में रजत पदक के स्विस ओपन के फाइनल और कुछ टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में जगह बनाई लेकिन खिताब नहीं जीत सकीं। सिंधू अपने अभियान की शुरुआत हमवतन श्री कृष्णा प्रिया कुदारावल्ली के खिलाफ करेंगी जबकि अंतिम आठ में उनका सामना रूस की पांचवीं वरीय येवगेनिया कोसेत्सकाया से हो सकता है। महिला सिंगल्स में दो बार की चैंपियन साइना नेहवाल, थाईलैंड की बुसानन ओंगबामरुंगफान और सिंगापुर की जिया मिन यिओ जैसी शीर्ष खिलाड़ी हिस्सा ले रही हैं। साइना पिछले कुछ समय में चोटों से परेशान रही हैं। उन्हें क्वार्टर फाइनल में सातवीं वरीय अमेरिका की आइरिस वैंग जबकि सेमीफाइनल में दूसरी वरीय ओंगबामरुंगफान से भिड़ना पड़ सकता है।

पुरुष सिंगल्स में श्रीकांत अपने अभियान की शुरुआत हमवतन सिरिल वर्मा के खिलाफ करेंगे और सेमीफाइनल में उनकी भिड़ंत सिंगापुर के लोह कीन यु से हो सकती है जिन्होंने विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में उन्हें हराया था। फार्म में चल रहे लक्ष्य पहले दौर में मिस्त्र के अधाम एल्गामल से भिड़ेंगे और क्वार्टर फाइनल में उनका सामना हमवतन एसएस प्रणय से हो सकता है। प्रणय का सामना पहले दौर में स्पेन के पाब्लो एबियान से होगा। छठे वरीय समीर वर्मा अपना अभियान अपने बड़े भाई सौरभ के खिलाफ शुरू करेंगे।

सिंधू की नजरें राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में स्वर्ण पर

पीवी सिंधू की नजरें 2022 में राष्ट्रमंडल खेलों और एशियाई खेलों में स्वर्ण पर है जो वह अभी तक नहीं जीत सकी है लेकिन व्यस्त सत्र में वह चुनिंदा टूर्नामेंट खेलेंगी ताकि सही समय पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर सके। राष्ट्रमंडल खेल जुलाई-अगस्त में बर्मिंघम में होंगे, जबकि एशियाई खेल चीन में सितंबर में होने हैं। सिंधू ने कहा,'इस साल मैं राष्ट्रमंडल खेल, एशियाई खेल, आल इंग्लैंड खिताब और विश्व चैंपियनशप जीतना चाहूंगी। सही टूर्नामेंट चुनकर खेलना होगा क्योंकि इस साल काफी टूर्नामेंट होने हैं।'

उन्होंने कहा,'हमें सावधानी से रणनीति बनानी होगी क्योंकि रैंकिंग भी अहम है। मैं एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों से पहले सर्वश्रेष्ठ फार्म हासिल करना चाहूंगी। मानसिक और शारीरिक रूप से फिट रहना जरूरी है। हर समय 100 प्रतिशत देना होता है। ऐसे में कोर्ट के भीतर और बाहर फिटनेस बहुत जरूरी है। अभ्यास में 100 प्रतिशत देने पर ही मैच में भी उसे दोहरा सकेंगे।'

Edited By: Sanjay Savern