बेंगलुरू, आनलाइन डेस्क। पवन सेहरावत (19 अंक) के सीजन के सातवें सुपर-10 की बदौलत बेंगलुरू बुल्स ने शुक्रवार को गुजरात जाएंट्स को हराकर वीवो प्रो कबड्डी लीग (पीकेएल) के आठवें सीजन की अंक तालिका में शीर्ष स्थान हासिल कर लिया। सीजन के 54 वें मुकाबले में बुल्स ने गुजरात को 46-37 से हराया।

10 मैचों में अपनी सातवीं जीत के साथ बुल्स पटना पाइरेट्स को हटाकर टेबल टापर बन गए हैं। दूसरी ओर, गुजरात की नौ मैचों में यह पांचवीं हार है। यह टीम 11वें स्थान पर है। गुजरात के लिए एचएस राकेश (14 अंक) ने सीजन का तीसरा सुपर-10 पूरा किया लेकिन दूसरे रेडरों का साथ नहीं मिलने और डिफेंस की फेल्ड टैकल्स के कारण वह अपनी टीम को जीत तक नहीं पहुंचा सके।

बहरहाल, चार मिनट के खेल के बाद गुजरात को 4-1 की लीड मिली हुई थी। दिल्ली के खिलाफ अपने पिछले मैच में 27 अंक लेने वाले हाई फ्लायर पवन सेहरावत मैच की पहले रेड पर बाहर थे। भरत ने हालांकि उन्हें रिवाइव कराया। पवन ने आते ही अंक लिया। फिर पवन ने दो अंक लेकर बुल्स को 5-4 से आगे कर दिया। बाकी काम बुल्स के डिफेंस ने किया। उसने रतन को लपक लिया।

एचएस राकेश ने मैच की पहली सुपर रेड के साथ गुजरात को फिर लीड दिला दी। चंद्रन रंजीत ने महेद्र राजपूत को टैकल कर बुल्स को बराबरी दिलाई और फिर पवन ने गजब के सुपर रेड के साथ बुल्स को 3 अंक की लीड दे दी। गुजरात ऑल आउट की कगार पर थे। सुपर टैकल पर हादी ओस्त्रोक ने पवन को लपक लिया। स्कोर 10-10 हो गया था। गुजरात हालांकि अधिक देर तक ऑल आउट नहीं बचे सके। बुल्स 15-11 से आगे हो गए थे।

ऑलइन के बाद पवन बाहर हो गए थे। एचएस राकेश ने दो रेड में तीन अंक लेकर बुल्स को सुपर टैकल की स्थिति में धकेल दिया। भारत ने हालांकि फिलहाल मुश्किल टाल दिया। अगली रेड पर बुल्स ने राकेश को लपक लिया। पवन रिवाइव हो गए थे। आते ही उन्होंने दो अंक लिए और इस सीजन का सातवां औऱ कुल 38वां सुपर-10 पूरा किया। स्कोर 21-15 से बुल्स के पक्ष में था।

पवन को टैकल करने के दौरान गुजरात के डिफेंडर सुमित चोटिल हुए और स्ट्रेचर पर बाहर ले जाए गए। गुजरात पर ऑलआउट का खतरा था। इस हाफ की अंतिम रेड पर प्रदीप ने उसे बोनस दिलाया। स्कोर अब भी 22-17 से बुल्स के पक्ष में था। ब्रेक के बाद परदीप ने हालांकि दो अंक लेकर ऑलआउट बचाया। एचएस राकेश ने बोनस लेकर सीजन का तीसरा सुपर-10 पूरा किया और फिर सुनील ने पवन को दूसरी बार लपक टीम को दो अंक दिलाए। स्कोर 24-25 हो गया था।

सुपर टैकल की स्थिति में हादी ने पवन के खिलाफ गलती की। राकेश ने स्कोर बराबर किया लेकिन बुल्स ने गुजरात को ऑल आउट कर 30-26 की लीड ले ली। आलइन के बाद दोनों टीमों को 2-2 अंक मिले। मैच में 10 मिनट बचे थे। कोच के प्लान पर चलते हुए गुजरात ने पवन को लपक लिया।गुजरात के डिफेंस ने लगातार दो टैकल के साथ स्कोर 30-33 कर दिया। राकेश लगातार पकड़े जा रहे थे। पवन रिवाइव हो चुके थे। आते ही पवन डैश कर दिए गए।

परदीप की अगली रेड पर दोनों टीमों को 1-1 अंक मिला। भरत ने गुजरात के कप्तान सुनील को बाहर किया तो बुल्स के डिफेंस ने राकेश को आउट कर पवन को रिवाइव करा लिया। पवन ने आते ही अंक लिया। फिर बुल्स के डिफेंस ने राजपूत को लपक लिया। अब लीड 6 की थी। सुपर टैकल की स्थिति थी। परवेश भैंसवाल ने गलती की लेकिन हादी ने एस्केप कर गुजरात को अंक दिलाया। हालांकि गुजरात अपना ऑलआउट नहीं टाल सके और नौ अंक से पीछे होकर मुकाबले से लगभग बाहर हो गए। दो मिनट बचे थे। अब देखना था कि गुजरात क्या कर सकते थे।

प्रदीप आए और अंक लेकर गए। फिर पवन ने बुल्स को अंक दिलाया। अगली रेड पर प्रदीप लपके गए। गुजरात की टीम अपने डिफेंस की नाकामी के कारण अभी भी 10 अंक से पीछे थी और एक समय मैच बने रहने के बाद अंततः सीजन की पांचवीं हार को मजबूर हुई।

 

Edited By: Viplove Kumar