अभिषेक त्रिपाठी, नई दिल्ली। भारत और पाकिस्तान पड़ोसी हैं और हर पड़ोसी एक-दूसरे से आगे निकलने की कोशिश में जुटा रहता है। भारत के परमाणु बम संपन्न देश होने के बाद पाकिस्तान ने परमाणु बम हासिल करने के लिए जी-जान लगा दी लेकिन कई मामलों में वह अपने पड़ोसी से काफी पीछे है। इसमें खेल भी शामिल है। रविवार को ऑस्ट्रेलिया में संपन्न हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत ने 26 स्वर्ण सहित 66 पदक जीते लेकिन पाकिस्तान एक स्वर्ण सहित सिर्फ पांच पदक ही जीत पाया। कॉमनवेल्थ गेम्स में 71 देशों ने भाग लिया जिसमें 39 देश ऐसे रहे जिन्होंने कम से कम एक पदक तो जीता ही। भारत इस सूची में तीसरे जबकि पाकिस्तान 24वें पायदान पर रहा।

पाकिस्तान में एक स्वर्ण का जश्न 

पड़ोसी देश पाकिस्तान को गोल्ड कोस्ट में कुश्ती में दो कांस्य पदक तय्यब रजा और मुहम्मद बिलाल ने दिलाए। रजा को भारतीय पहलवान सुमित ने तो बिलाल को सेमीफाइनल में राहुल अवारे ने पटका था। पाक के लिए एकमात्र स्वर्ण पदक पहलवान मुहम्मद इनाम बट ने जीता। इसके बाद उनके देश में जमकर जश्न मना। हालांकि कुछ लोगों ने सवाल भी उठाए कि देश को खेलों पर भी ध्यान देना चाहिए। बट ने दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स में भी सोना जीता था। उसे दो कांस्य भारोत्तोलन में मिले। यही कारण था कि पाकिस्तान पदक तालिका में 24वें नंबर खिसक गया।

हालत यह है कि पदक तालिका में उससे आगे ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, कनाडा, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका, वेल्स, स्कॉटलैंड, नाइजीरिया, साइप्रस, जमैका, मलेशिया, सिंगापुर, केन्या, युगांडा, बोत्सवाना, समोआ, त्रिनिदाद एंड टोबेगो, नामीबिया, नॉर्दर्न आयरलैंड, बहमास, पपुआ न्यू गिनी और फिजी भी हैं। भारत का दूसरा पड़ोसी बांग्लादेश दो रजत पदकों के साथ 30वें और श्रीलंका एक रजत पांच कांस्य के साथ 31वें पायदान पर रहा। पाकिस्तान ने 1962 में पर्थ में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में आठ स्वर्ण सहित कुल नौ पदक जीते थे। यह इन खेलों में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

भारत है बहुत आगे 

दिल्ली कॉमनवेल्थ गेम्स आयोजित करके भारत ने 101 पदक जीते थे। भारत ने ग्लास्गो में 64 पदक जीते थे। गोल्ड कोस्ट में भारतीय टीम ने 26 स्वर्ण, 20 रजत और 20 कांस्य जीतकर पदक तालिका में तीसरे स्थान पर कब्जा किया। भारत से आगे सिर्फ ऑस्ट्रेलिया (198) और इंग्लैंड (136) ही रहे।

भारत का गोल्डकोस्ट में  प्रदर्शन

-66 पदकों के साथ गोल्ड कोस्ट कॉमनवेल्थ गेम्स में तीसरे पायदान पर

-कॉमनवेल्थ इतिहास में 504 पदक जीते हैं। ओवरऑल पदक तालिका में चौथे पायदान पर

-दिल्ली में 2010 में कॉमनवेल्थ गेम्स में कुल 101 पदक जीतकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।

-ओलंपिक में नौ स्वर्ण, सात रजत और 12 कांस्य सहित कुल 28 पदक हासिल कर चुका है भारत

पाकिस्तान का गोल्डकोस्ट में  प्रदर्शन

-गोल्ड कोस्ट में सिर्फ पांच पदक हासिल कर 24वें स्थान पर रहा

-कॉमनवेल्थ इतिहास में पाकिस्तान 25 स्वर्ण सहित कुल 75 पदक ही जीत पाया है

-1962 में पर्थ में कॉमनवेल्थ गेम्स में आठ स्वर्ण सहित कुल नौ पदक जीते, जो उसका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।

-ओलंपिक में अब तक तीन स्वर्ण, तीन रजत और चार कांस्य सहित कुल 10 पदक ही जीत पाया। इसमें आठ पदक हॉकी से आए

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

Posted By: Ravindra Pratap Sing