नई दिल्ली, आनलाइन डेस्क। भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर पूरे देश का सिर गर्व से ऊंचा किया। भारतीय ओलिंपिक इतिहास में गोल्ड मेडल जीतने वाले नीरज पहले एथलीट बने। भालाफेंक में उन्होंने यह बड़ी कामयाबी देश के लिए हासिल की। उनकी इस उपलब्धि के बाद राज्य सरकारों के अलावा इनामी राशि की बरसात हुई। नीरज ने ओलिंपिक गोल्ड जीतने के बाद कार्यक्रम से फ्री होने के बाद माता पिता के सपने को पूरा किया।

शनिवार 11 सितंबर को नीरज ने एक ट्वीट कर अपने माता पिता के साथ तस्वीर साझा की। उन्होंने बताया कि उनका सपना था कि माता पिता को फ्लाइट पर बिठाकर घुमाए। नीरज ने बताया कि उनके जीवन का एक सपना था कि वह अपने माता पिता को फ्लाइट से यात्रा कराएं। आज उनके जीवन का यह एक सपना पूरा हो गया।

नीरज चोपड़ा ने भारत की तरफ से टोक्यो ओलिंपिक में भालाफेंक में 87.58 मीटर थ्रो कर गोल्ड मेडल की जीत पक्की की थी। भारत ने टोस्यो में कुल 7 मेडल जीते थे। यह भारतीय टीम की तरफ से ओलिंपिक में किया गया अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन रहा।

 

Edited By: Viplove Kumar