मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

वाशिंगटन। ओलंपिक खेलों में चार स्वर्ण पदक जीत चुकीं स्टार जिमनास्ट सिमोन बाइल्स ने भी अमेरिकी टीम के डॉक्टर रहे लैरी नासर के खिलाफ मुंह खोला है। 20 साल की बाइल्स ने कहा है कि नासर ने विशेष उपचार देने के बहाने उनका भी यौन उत्पीड़न किया था। बाइल्स 2016 के रियो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतने वाली अमेरिकी टीम का भी हिस्सा थीं। बाइल्स से पहले गैबी डगलस, एली रेसमैन और मैककायला मारोनी समेत कई महिला एथलीटों ने नासर पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे।

बाइल्स ने सोमवार को ट्विटर पर हैशटैग 'मी टू' के साथ नासर पर आरोप लगाते हुए एक पोस्ट की। उन्होंने लिखा, 'मैं भी उन पीडि़त महिलाओं में शामिल हूं जिनके साथ लैरी नासर ने यौन दु‌र्व्यवहार किया था। बहुत से कारण थे जिनकी वजह से मैं अब तक चुप रही। मैं जानती हूं कि मैं गलत नहीं हूं। जिस डॉक्टर पर आपको भरोसा करने को कहा जाता है वही आपके साथ इस तरह का व्यवहार करता है।' बाइल्स फिलहाल 2020 के टोक्यो ओलंपिक खेलों की तैयारी कर रही हैं।

नासर के वकील ने इस आरोप पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। लंबे समय तक अमेरिका की महिला जिमनास्ट टीम के डॉक्टर रहे नासर पर तीन दशक के दौरान इलाज के बहाने 100 से ज्यादा महिला एथलीटों के यौन उत्पीड़न का आरोप है। अमेरिकी अदालत ने पिछले माह नासर को बच्चों के यौन शोषण से जुड़े मामले में 60 साल की सजा सुनाई थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप