नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। India vs Bangladesh Pink Ball Test: पहली बार गुलाबी गेंद से टेस्ट खेलने वाली टीम इंडिया की भले हर जगह तारीफ हो रही हो, लेकिन इस टेस्ट मैच को एक दिन के लिए देखने आने वाले नॉर्वे के दिग्गज शतरंज खिलाड़ी मेग्नस कार्लसन इससे बहुत ज्यादा प्रभावित नहीं हैं। हालांकि, अपना खेल सभी को पसंद होता है और दूसरे खेलों में लोगों की बहुत कम दिलचस्पी होती है। शायद यही मेग्नस कार्लसन के साथ भी है।  

दरअसल, कोलकाता के ईडन गार्डेंस पर खेले गए ऐतिहासिक डे-नाइट टेस्ट मैच के लिए दिग्गज शतरंज खिलाड़ी मेग्नस कार्लसन को भी न्योता दिया गया था। पांच बार के विश्व चैंपियन कार्लसन मैच के दूसरे दिन विश्वनाथन आनंद के साथ कोलकाता के स्टेडियम में घंटा बजाने वाले विशिष्ट अतिथियों में भी शामिल थे, लेकिन कार्लसन को लगता है कि यह वाकया उनके लिए बेवकूफ सरीखा था।

मैं वहां बेवकूफ लग रहा था- कार्लसन

यहां Tata Steel Chess India 2019 - Rapid format का शतरंज का टूर्नामेंट खेलने आए मेग्नस कार्लसन ने अपने इस अनुभव के बारे में कहा, "वहां क्या हुआ, (विश्वनाथन) आनंद ने घंटा बजाया और मैं वहां खड़ा था, मैं बेवकूफ लग रहा था। इस मैच को लेकर मेरा सार यही है। जब क्रिकेट की बात होगी, तो मुझे इस खेल के बारे में अभी बहुत कुछ सीखना होगा।"

क्रिकेट की कम जानकारी रखते हैं कार्लसन

बाद में उन्होंने इस मैच के बारे में भी पूछा, "क्या यह मैच अभी जारी है या फिर खत्म हो गया?" जब कार्लसन को यह बताया गया कि भारत ने यह मैच जीत लिया है तो उन्होंने कहा, तो.. अब वहां (मैच देखने) जाने का अब कोई चांस नहीं। कार्लसन क्रिकेट के बारे में बहुत ज्यादा नहीं जानते, इसलिए इस खेल में उनकी कोई खास दिलचस्पी नहीं है। गौरतलब है कि इस मैच में मेजबान भारतीय टीम ने बांग्लादेश को पारी और 46 रन से मात दी थी। 

Posted By: Vikash Gaur

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप