जकार्ता। भारत को कुश्ती में दो बार के ओलंपिक मेडलिस्ट सुशील कुमार से एशियन गेम्स में बड़ी उम्मीदें थीं लेकिन वो इस उम्मीद पर इस बार खड़े नहीं उतरे। सुशील अपने पहले राउंड के मुकाबले में ही हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गए। अपनी इस हार के बाद उन्होंने कहा कि उन्हें आगे बढ़ना है और भविष्य के टूर्नामेंट्स के लिए उनके पास प्लान है। उन्होंने आगे कहा कि हारना खेल का अहम हिस्सा है और ये पहली बार नहीं है जब उन्होंने ऐसी परिस्थिति का सामना किया हो। 

सुशील कुमार ने कहा कि हार भी खेल का ही हिस्सा है और मैं पहले भी ऐसी स्थिति का सामना कर चुका हूं लेकिन मेरे पास आगे बढ़ने का रास्ता है। अब मुझे पता है कि किसी रेसकर का किस तरह से सामना करना है किस तरह से उसके खिलाफ खेलना है। मेरे पास अपने खेल को ठीक करने की योजना है और जो मुझमें कमियां हैं उसे मैं दूर कर लूंगा। 

मैच के दौरान किए गए अपने प्रदर्सन के बारे में उन्होंने कहा कि बाउट के शुरुआती समय में मैंने जल्दबाजी में हमला करने का फैसला कर लिया। मुझे आक्रामक होने के बजाए रक्षात्मक तरीके से खेलना चाहिए था। मुझे कोच ने मेरे कमजोर प्वाइंट के बारे में बताया था और मैंने सोचा कि मुझे तीन अंक हासिल करने के बाद मुकाबला करना चाहिए था ना कि अटैक करना था। दो बार ओलंपिक पदक जीत चुके सुशील ने अपने भारतीय फैंस से कहा कि वो आने वाले टूर्नामेंट में अच्छी वापसी करेंगे। 

सुशील एशियन गेम्स से पहले ही मैच में 3-5 से हारकर बाहर हो गए। उन्हें बहरीन के रेसलर आदम बाटिरोव ने 74 किलोग्राम पुरुष फ्री स्टाइल कैरेगरी में हरा दिया। 18 अगस्त से शुरू हुआ एशियन गेम्स 2 सितंबर तक चलेगा। 

Posted By: Sanjay Savern