सऊदी अरब ग्रांप्रि रेस जीतने के बाद लुइस हैमिल्टन ने इस बात को स्वीकार किया कि उनके लिए यह रेस कठिन रही। हैमिल्टन ने रविवार को मैक्स वेस्र्टापेन को पछाड़कर यह फार्मूला वन रेस अपने नाम की। उन्होंने इसके साथ ही अबूधाबी में होने वाली सत्र की आखिरी रेस से पहले वेस्र्टापेन के साथ फार्मूला वन खिताब की दौड़ रोचक बना दी। इन दोनों प्रतिद्वंद्वी ड्राइवर के अब समान अंक हैं। पेश हैं हैमिल्टन के साक्षात्कार के मुख्य अंश :

- रेस के दौरान अपनी एकाग्रता बनाए रखना कितना जरूरी था?

- मैं काफी लंबे समय से रेसिंग कर रहा हूं और यह काफी कठिन था। मैंने जितना हो सके उतना समझदार और सख्त बनने की कोशिश की, लेकिन वर्षों से अपने सभी रेस के अनुभव के साथ, बस अपनी कार को ट्रैक पर रखना सबसे महत्वपूर्ण बात थी।

- इस जीत के लिए आपने कितनी मेहनत की?

- यह मुश्किल था, लेकिन हम एक टीम के रूप में डटे रहे। इस सत्र के दूसरे भाग के दौरान हमने बहुत सारी चीजें देखी हैं और मुझे वास्तव में सभी पर गर्व है। मैं दर्शकों का भी आभारी हूं जो हमारे साथ थे। यहां आकर अच्छा लगा।

- टर्न 27 में वेस्र्टापेन के साथ क्या हुआ?

- मुझे समझ में नहीं आया कि वेस्र्टापेन ने अचानक इतनी जल्दी ब्रेक क्यों लगाया और फिर वह आगे बढ़ा और मुझे समझ में नहीं आया कि क्या चल रहा है। फिर मुझे टीम से यह कहते हुए संदेश मिला कि वह मुझे से आगे बढ़ने की कोशिश कर रहा है, लेकिन यह सब थोड़ा भ्रमित करने वाला था।

- प्रतिद्वंद्वी कार पर काबू पाने के बाद आप टीम के लिए कितने खुश हैं?

- वेस्र्टापेन की टीम को कुछ गति मिली है। यहां से आगे निकलना वाकई मुश्किल हो गया है, लेकिन हमारे पास जो कुछ है उसके साथ हमने एक अच्छा काम किया है। टीम को अधिक अंक प्राप्त करने में मदद करने के लिए वाल्टेरी बोटास ने शानदार काम किया, इसलिए यह समग्र रूप से टीम के लिए बहुत अच्छा अंक है।

- सऊदी अरब में यह एक यादगार पदार्पण रेस थी, आपने इस वीकेंड का कितना लुत्फ उठाया?

- यह एक शानदार इवेंट रहा। जब तक मैं यहां रहा सऊदी अरब के लोगों ने मेरा बहुत स्वागत किया। यहां के लोग प्यारे हैं और ट्रैक ड्राइव करने के लिए अभूतपूर्व हैं। यह शारीरिक और मानसिक रूप से बहुत कठिन रहा है, लेकिन मैं इसे किसी अन्य तरीके से नहीं चाहूंगा। 

Edited By: Sanjay Savern