टोक्यो, जेएनएन। किदाम्बी श्रीकांत को शुक्रवार को यहां पुरूष एकल स्पर्धा में तीन गेम तक चले मैराथन क्वार्टर फाइनल में हार का सामना करना पड़ा जिससे 700,000 डालर इनामी राशि के जापान ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में भारतीय चुनौती भी समाप्त हो गयी।

अन्य भारतीय खिलाड़ियों की तरह सातवें वरीय श्रीकांत भी थके हुए लग रहे थे, वह एक घंटे 19 मिनट तक चले मुकाबले में कोरिया के ली डोंग केयून के खिलाफ एक गेम की बढ़त गंवा बैठे जिससे उन्हें 21-19 16-21 18-21 से पराजय मिली।

पूर्व नंबर एक खिलाड़ी श्रीकांत ने गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक जीता था। पिछले दौर में उन्होंने हांगकांग के वोंग विंग कि विन्सेंट को सीधे गेम में हराकर एशियाई खेलों की हार का बदला चुकता किया था।

श्रीकांत के बाहर होने से भारतीय खिलाड़ियों का जापान ओपन में अभियान समाप्त हो गया। ओलंपिक पदकधारी और एशियाई खेलों की रजत पदकधारी पीवी सिंधू और एच एस प्रणय गुरूवार को क्रमश: महिला और पुरूष एकल में हारकर बाहर हो गए थे।

पुरूष युगल में भी भारतीय खिलाड़ी आगे बढ़ने में असफल रहे। मनु अत्री और बी सुमित रेड्डी की जोड़ी गुरूवार को प्री क्वार्टरफाइनल में पस्त हो गई थी।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal