चेन्नई, प्रेट्र। भारतीय महिला टीम ने रविवार को इंडोनेशिया को 6-2 से हराकर एशियाई नेशंस (क्षेत्रीय) ऑनलाइन शतरंज चैंपियनशिप का खिताब जीता, लेकिन पुरुष टीम को फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से हारने के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत ने अगस्त में फिडे ऑनलाइन ओलंपियाड जीता था तथा शीर्ष खिलाड़ियों कोनेरू हंपी और डी हरिका की अनुपस्थिति में भी महिला टीम की उपलब्धि से देश में इस खेल बढ़ावा मिलेगा।

पुरुष टीम को हालांकि बेहद करीबी फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से 3.5-4.5 से हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम पहला मैच 1.5-2.5 से हार गई थी जबकि दूसरा मैच 2-2 से बराबर रहा। महिला वर्ग के फाइनल में महिला ग्रैंडमास्टर पीवी नंदिता ने चेल्सी मोनिका इग्नेसियास सिहेती को हराकर भारत को पहला अंक दिलाया। इसके बाद पूनम राउत ने मेडिना वर्दा आइलिया को पराजित किया। आर वैशाली और कप्तान मेरी एन गोम्स ने अपनी बाजियां ड्रॉ खेलीं। इस तरह से भारत ने पहला मैच 3-1 से जीता।

दूसरे मैच में वैशाली को शीर्ष बोर्ड पर इरीन करिश्मा सुकंदर से हार झेलनी पड़ी, लेकिन भक्ति कुलकर्णी, पद्मिनी राउत और नंदिता ने अपनी-अपनी बाजियां जीतीं। भारतीय महिला टीम प्रारंभिक चरण में भी शीर्ष पर रही थी। वैशाली ने नौ बाजियों में 6.5 अंक लेकर शीर्ष बोर्ड का स्वर्ण पदक जीता।

पुरुष वर्ग के फाइनल के पहले मैच में बी अधिबान और एसपी सेतुरमण की एंटन स्मिरनोव और मैक्स इलिंगवर्थ के हाथों हार भारत को महंगी पड़ी। दूसरे मैच में सेतुरमन की जगह सूर्य शेखर गांगुली खेले और वह इलिंगवर्थ को हराने में सफल रहे लेकिन कुयाबोकारोव ने सरीन को हराकर हिसाब बराबर कर दिया। अधिबान और शशिकिरण ने अपनी बाजियां ड्रॉ खेलीं।

इन दिनों कोविड 19 महामारी की वजह से ऑनलाइन चेस प्रतियोगिता का खूब बोलबाला है और लॉकडाउन के दौरान पर विभिन्न स्तर पर इसी तरह से चेज की कई प्रतियोगिताएं आजोजित की गई थी। 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस