मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, प्रेट्र। भारत की दीपा कर्माकर गुरुवार से बाकू और दोहा में शुरू हो रहे कलात्मक जिम्नास्टिक्स विश्व कप में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर ओलंपिक स्थान हासिल करने की कोशिश करेंगी।

दीपा ने नवंबर 2018 में जर्मनी के कोटबस में कलात्मक जिमनास्टिक्स विश्व कप की वाल्ट स्पर्धा में कांस्य पदक जीतकर ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने का मजबूत दावा पेश किया था। घुटने की चोट से वापसी के बाद यह दीपा का पहला टूर्नामेंट था। इस चोट के कारण जकार्ता एशियन गेम्स में वह वाल्ट फाइनल में नहीं खेल पाई थीं और उन्हें टीम स्पर्धा से हटना पड़ा था। हालांकि, उन्होंने समय पर उबरते हुए कोटबस में तीसरा स्थान हासिल कर ओलंपिक क्वालीफिकेशन की उम्मीद बनाए रखी।

दीपा ने मेलबर्न में 21 से 24 फरवरी तक हुए विश्व कप में नहीं खेलने का फैसला किया था और अब उनकी निगाहें बाकू में 14 से 17 मार्च और दोहा में 20 से 23 मार्च तक होने वाले विश्व कप में अच्छे प्रदर्शन पर लगी हैं। उन्होंने कहा, 'इस बार ओलंपिक क्वालीफिकेशन कई दौर में होगा, जिसमें विश्व कप भी शामिल हैं। मैं 2020 ओलंपिक क्वालीफिकेशन के लिए अपने मौके बढ़ाने के लिए सभी संभव दौर में भाग लेना चाहती हूं और पिछले साल जर्मनी में विश्व कप में पदक जीतकर मेरे आत्मविश्वास में बढ़ोतरी हुई है। मैं अच्छे प्रदर्शन करके ओलंपिक की ओर प्रगति करने की उम्मीद लगाए हूं।'

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप