लंदन, प्रेट्र। नौ वर्षीय भारतीय शतरंज जीनियस को अब ब्रिटेन से लौटना नहीं पड़ेगा। शुक्रवार को यह बाल खिलाड़ी वीजा लड़ाई जीत गया। पिता का वर्क वीजा समाप्त हो जाने के बाद उसके भारत लौटने का खतरा पैदा हो गया था। गृह विभाग ने इस मामले में बच्चे की असाधारण प्रतिभा को देखते हुए यह कदम उठाया है।

श्रेयस रोयाल कई शतरंज चैंपियनशिप जीत चुका है और अपने आयु वर्ग में उसे दुनिया में चौथा रैंक मिला है। उसमें भावी विश्व चैंपियन बनने की संभावना दिख रही है। उसके पिता जितेंद्र सिंह का आइटी संबंधी वीजा अगले महीने समाप्त होने जा रहा है। इसके बाद परिवार के भारत लौटने की उम्मीद की जा रही थी।

कई ब्रिटिश सांसदों ने इस मामले में हस्तक्षेप किया और ब्रिटेन के होम सेकेट्री साजिद जावेद से रोयाल के मामले में लीक से हटकर कदम उठाने का आग्रह किया। सिंह ने बताया कि गृह कार्यालय ने ई-मेल कर उन्हें बताया है कि उन्होंने मामले पर विचार किया है।

By Sanjay Savern