मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

नई दिल्ली, जेएनएन। चौथी वरीयता प्राप्त भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी किदांबी श्रीकांत को हांगकांग ओपन टूर्नामेंट के दौरान पुरुष सिंगल्स क्वार्टर फाइनल में उलटफेर का शिकार होना पड़ा। श्रीकांत का अपने से कम वरीयता प्राप्त जापानी खिलाड़ी केंतो निशिमोतो से मुकाबला था। लेकिन, केंतो ने महज 44 मिनट में लगातार दो गेम 21-17, 21-13 से जीतकर श्रीकांत को हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। 

विश्व में 11वीं रैंकिंग के निशिमोतो ने इसी के साथ करियर में पहली बार श्रीकांत के खिलाफ जीत दर्ज की। इससे पहले यह भारतीय खिलाड़ी तीन बार इस जापानी खिलाड़ी को हरा चुका था। इसी वर्ष एशिया चैंपियनशिप में भी श्रीकांत ने निशिमोतो को हराया था। इससे पहले भारत की महिला खिलाड़ी पीवी सिंधू और साइना नेहवाल महिला सिंगल्स में हारकर बाहर हो चुकी हैं, जबकि डबल्स वर्ग में भी भारतीय चुनौती समाप्त हो चुकी है।

जूनियर विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में लक्ष्य

भारत के युवा बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन चीनी ताइपे के चेन शियाउ चेंग को हराकर जूनियर विश्व चैंपियनशिप के क्वार्टर फाइनल में पहुंच गए। अलमोड़ा के 17 वर्षीय सेन इस साल जुलाई में एशियन जूनियर चैंपियनशिप का खिताब जीत चुके हैं। उन्होंने नौवीं वरीयता प्राप्त चेन को 15-21, 21-17, 21-14 से मात दी। चौथी वरीयता प्राप्त लक्ष्य का सामना अब मलेशिया के आदिल शोलेह अली से होगा। 

लक्ष्य को पहले दौर में बाई मिली थी। उसने इसके बाद मेक्सिको के अमरंडो गेटान और इटली के जियोवान्नी टोटी को सीधे गेमों में हराया। पुरुष डबल्स में विष्णु वर्धन गौड़ और श्रीकृष्णा साई कुमार पोडिले ने इंडोनेशिया के डी रफियन रेस्तू और बर्नादुस बागास के वर्दाना को 21-11, 21-17 से हराकर अंतिम आठ में जगह बनाई। अब उनका सामना कोरिया के ताई यांग शिन और चान वांग से होगा। 

Posted By: Lakshya Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप