चांगवोन (दक्षिण कोरिया), प्रेट्र। भारत के गुरप्रीत सिंह ने आइएसएसएफ विश्व निशानेबाजी चैंपियनशिप में शुक्रवार को सीनियर स्पर्धा में स्टैंडर्ड पिस्टल में रजत पदक जीता, लेकिन भारत के जूनियर निशानेबाजों का चैंपियनशिप में स्वर्णिम सफर जारी रहा। भारत के 16 वर्षीय विजयवीर सिद्धू ने 25मीटर स्टैंडर्ड पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता। विजयवीर ने राजकंवर सिंह संधू और आदर्श सिंह के साथ मिलकर इस स्पर्धा के टीम इवेंट में भी स्वर्ण पदक जीता। भारत ने इस चैंपियनशिप में 11 स्वर्ण, नौ रजत और सात कांस्य पदक के साथ कुल 27 पदक के साथ अंक तालिका में तीसरे स्थान पर रहकर समाप्ति की।

25मीटर पिस्टल में गुरुवार को चौथे स्थान पर रहने वाले सिद्धू शुक्रवार को 572 अंकों के साथ पहले स्थान पर रहे। कोरिया के ली गुनहेयोक ने 570 अंकों के साथ दूसरा, जबकि चीन के हाओजी झू ने 565 अंकों के साथ तीसरा स्थान प्राप्त किया। टीम स्पर्धा में सिद्धू, संधू (564) और आदर्श (559) ने मिलकर 1695 का स्कोर कर फाइनल में पहले स्थान पर रहकर स्वर्ण पदक जीता। इसके बाद कोरिया (1693) ने रजत और चेक गणराज्य (1674) ने कांस्य पदक जीता। आदर्श इस स्पर्धा के व्यक्तिगत इवेंट में चौथे स्थान पर रहे।

सीनियर में भारत के गुरप्रीत सिंह ने 579 का स्कोर करके रजत पदक जीता। कॉमनवेल्थ गेम्स के पूर्व स्वर्ण पदक विजेता यूक्रेन के पाव्लो कोरोसतिलोव ने 581 का स्कोर करके स्वर्ण पदक जीता। वहीं टीम स्पर्धा में गुरप्रीत, अमनप्रीत सिंह (560) और लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता विजय कुमार (560) की तिकड़ी 1699 का स्कोर करके चौथे स्थान पर रही।

जूनियर महिला स्कीट टीम में सिमरनप्रीत कौर, परिनाज धालीवाल और अरीबा खान ने 318 का स्कोर करके चौथा स्थान प्राप्त किया। तीनों में से कोई भी व्यक्तिगत स्पर्धा के फाइनल में जगह नहीं बना सका। पुरुषों की स्कीट व्यक्तिगत स्पर्धा में अंगद वीर सिंह बाजवा ने 118 का स्कोर कर 49वां, सिराज शेख ने 115 का स्कोर कर 69वां और मेराज अहमद खान ने 113 का स्कोर कर 77वां स्थान प्राप्त किया। तीनों की जोड़ी टीम स्पर्धा में 20वें स्थान पर रही। पुरुषों के 300मीटर राइफल थ्री पोजीशन स्पर्धा में पारुल कुमार 1134 का स्कोर करके 24वें स्थान पर रहे, जबकि अमित कुमार 1124 के स्कोर के साथ 28वें स्थान और आकाश रविदास 1077 के स्कोर के साथ 35वें स्थान पर रहे। टीम स्पर्धा में तीनों की जोड़ी 3335 के स्कोर के साथ आठवें स्थान पर रही। भारत ने इस चैंपियनशिप से दो ओलंपिक कोटे प्राप्त किए हैं। अंजुम मोदगिल और अपूर्वी चंदेला दो भारतीय निशानेबाज रहीं, जिन्हें ओलंपिक कोटा मिला। निशानेबाजी में अगला बड़ा टूर्नामेंट अगले वर्ष फरवरी में विश्व कप होगा, जहां से भी खिलाडि़यों के पास ओलंपिक कोटा प्राप्त करने का मौका होगा। यह विश्व कप भारत के दिल्ली स्थित कर्णी सिंह निशानेबाजी रेंज में आयोजित होगा।

Posted By: Sanjay Savern